राजस्थान प्रकरण पर उत्तराखंड कांग्रेस का राजभवन की ओर कूच, रोकने पर धरने पर बैठे हरीश व प्रीतम
राजस्थान प्रकरण पर उत्तराखंड कांग्रेस का राजभवन की ओर कूच, रोकने पर धरने पर बैठे हरीश व प्रीतम
उत्तराखंड

राजस्थान प्रकरण पर उत्तराखंड कांग्रेस का राजभवन की ओर कूच, रोकने पर धरने पर बैठे हरीश व प्रीतम

news

एक नहीं सौ मुकदमे दर्ज कर दो, हम डरने वाले नहीं : प्रीतम सिंह लोकतंत्र बचाने के लिए कांग्रेस करती रहेगी आन्दोलन : हरीश रावत देहरादून, 27 जुलाई (हि.स.)। उत्तराखंड कांग्रेस ने राजस्थान मामले को लेकर आज राजभवन का घेराव करने का प्रयास किया। पुलिस ने राजभवन से पहले ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं को रोक दिया। इसके विरोध में कांग्रेस नेता वहीं धरने पर बैठ गए। इस दौरान प्रीतम सिंह और हरीश रावत ने भाजपा सरकार पर लोकतंत्र कुचलने का आरोप लगाते हुए आंदोलन चलाने की चेतावनी दी है। सोमवार को राजस्थान मामले को लेकर अपने तय कार्यक्रम के अनुसार प्रीतम सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राजभवन की ओर कूच किया। पुलिस ने हाथी बड़काला के पास बेरिकेडिंग लगाकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं को रोक दिया। पुलिस चाक चौबंद सुरक्षा के चलते कांग्रेस कार्यकर्ता आगे नहीं बढ़ पाए। इससे नाराज कांग्रेस नेता वहीं पर भाजपा सरकार के खिलाफ धरने पर बैठ गए। इस दौरान पुलिस धरने पर बैठे लोगों से शारिरीक दूरी बनाए रखने की अपील करती रही, लेकिन कार्यकर्ता शारीरिक दूरी के नियम का मखौल उड़ते रहे। इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि सत्ता में बैठे लोग लोकतंत्र की हत्या करने पर आमादा हैं। सत्ता के स्वार्थ में लोकतंत्र की गरिमा का भी उन्हें ख्याल नहीं है। कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के आह्वान पर आज राजभवन का घेराव किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा को जिन राज्यों में जनमत नहीं मिला है, वहां वह कांग्रेस की सरकारों का गिराने के मिशन पर काम कर रही है। गोवा, कर्नाटक व मध्यप्रदेश के बाद अब राजस्थान में सरकार को गिराने की कोशिश हो रही है। इससे लोकतंत्र में आस्था रखने वाले आहत हैं। लोकतंत्र की हत्या होती देख कांग्रेस चुप नहीं बैठने वाली है। चाहे इसके लिए एक नहीं सौ मुकदमे त्रिवेंद्र सरकार दर्ज करा दे। कांग्रेस बलिदान और आमजन की संघर्षों की पार्टी है। भाजपा नसीहत न देकर जनता और लोकतंत्र की रक्षक का काम करे। लेकिन सत्ता में आते ही भक्षक की रोल निभा रही है। पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस महासचिव हरीश रावत पार्टी मुख्यालय न आकर सीधे हाथीबड़कला पहुंचे और कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के साथ धरने पर बैठे। हालांकि कुछ देर तक वे अलग अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठे लेकिन बाद में वह प्रीतम गुट के पास पहुंचे। इस मौके पर हरीश रावत ने कहा कि भाजपा सरकार की लोकतंत्र विरोधी नीतियों के साथ पूरा देश कांग्रेस के साथ है। जिस प्रकार से संसदीय लोकतंत्र विरोधी रवैया केंद्र के साथ भाजपा की राज्य सरकार अपना रही है। वह बहुत ही दुखद और गिरावट है। उत्तराखंड, अरुणांचल, मध्यप्रदेश के बाद राजस्थान के गहलोत सरकार को गिराने का काम किया जा रहा है। कांग्रेस के साथ देश की जनता गहलोत के संघर्ष के साथ घड़ी है। इस मौके पर प्रदेश संगठन महामंत्री विजय सरस्वत, उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना, अनुसूचित जाति के प्रदेश अध्यक्ष व विधायक राजकुमार, पूर्व मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी, महानगर अध्यक्ष लालचंद शर्मा, हीरा सिंह बिष्ट सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद है। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश-hindusthansamachar.in