देवस्थानम बाेर्ड का समर्थन करने पर तीर्थ पुरोहितों ने पर्यटन मंत्री का पुतला फूंका

देवस्थानम बाेर्ड का समर्थन करने पर तीर्थ पुरोहितों ने पर्यटन मंत्री का पुतला फूंका
tirtha-priests-burn-effigy-of-tourism-minister-for-supporting-devasthanam-board

गुप्तकाशी, 11 जून (हि.स.)। देवस्थानम बोर्ड को तत्काल प्रभाव से समाप्त करने की मांग को लेकर तीर्थ पुरोहित समाज श्री केदारनाथ ने आज गुप्तकाशी में पर्यटन और संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज का पुतला दहन किया। मंत्री के देवस्थानम बोर्ड पर पुनर्विचार न करने वाले बयान से तीर्थ पुरोहित नाराज हैं। तीर्थ पुरोहित समाज और हक हकूकधारियों ने वृहद आंदोलन छेड़ने की चेतावनी भी दी है। शुक्रवार को तीर्थ पुरोहितों ने देवस्थानम बोर्ड को तत्काल प्रभाव से समाप्त करने की मांग करते हुए उत्तराखंड सरकार तथा सतपाल महाराज के विरोध में नारेबाजी की। इसके बाद तीर्थ पुरोहितों ने मंत्री महाराज का पुतला दहन किया। इस मौके पर केदार सभा के अध्यक्ष बिनोद शुक्ला ने कहा कि बोर्ड के गठन की अधिसूचना जारी होने के बाद से लेकर आज तक हक हकूकधारी राज्यभर के विभिन्न स्थानों पर अपना विरोध दर्ज कर रहे हैं, लेकिन सरकार के नुमाइंदे इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। शुक्ला ने कहा कि बिना हक हकूकधारी तथा तीर्थ पुरोहितों को विश्वास में लिए इस बोर्ड का गठन किया गया है। प्रदेश के मुखिया तीरथ सिंह रावत को प्रेषित ज्ञापन में तीर्थ पुरोहितों ने कहा कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री बनते ही उन्होंने देवस्थानम बोर्ड पर पुनर्विचार करने के लिए एक बयान जारी किया था, लेकिन अभी तक उक्त दिशा में कोई भी कारगर कदम नहीं उठाया गया है। ज्ञापन में कहा गया कि बोर्ड के लागू होते ही स्थानीय लोगों तथा हक हकूक धारियों के हितों के साथ खिलवाड़ किया जाएगा। जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बोर्ड को निरस्त करने के बजाय इसका लगातार विस्तारीकरण किया जा रहा है, जिससे तीर्थ पुरोहित समाज अपने को ठगा महसूस कर रहे हैं। इस मौके पर केदार सभा के महामंत्री कुबेरनाथ, गणेश तिवारी, राजकुमार तिवारी और संतोष त्रिवेदी समेत कई लोग मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार / बिपिन