नृसिंह मंदिर की पौराणिक दंड धारा सूख गई

नृसिंह मंदिर की पौराणिक दंड धारा सूख गई
the-mythical-dand-stream-of-narsingh-temple-dried-up

गोपेश्वर, 02 जून (हि.स.)। चमोली जिले के जोशीमठ स्थित नृसिंह मंदिर की पौराणिक दंड धारा सूख गई है। वहीं मंदिर समिति की ओर से जल संस्थान से लिये गये कनेक्शन पर भी अनियमित पेयजल की आपूर्ति से समिति को पेयजल की आपूर्ति में खासी दिक्कतें झेलनी पड़ रही हैं। मंदिर समिति के हक-हकूकधारियों और कर्मचारियों ने जल संस्थान से सुचारु पेयजल आपूर्ति की मांग उठाई है। पौराणिक दंड धारा का जलस्तर कम होने के बाद तत्कालीन बीकेटीसी की ओर से यहां पानी की आपूर्ति के लिये पेयजल लाइन का संयोजन करवाया गया। इन दिनों दंड धारा के प्राकृतिक स्रोत से पानी की निकासी पूर्ण रूप से बंद हो गई है। स्थानीय निवासी देवेंद्र सिंह और मोहन सिंह का कहना है कि मंदिर में पानी की आपूर्ति न होने से सफाई और अन्य कार्यों के लिये कर्मचारियों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जल संस्थान के अधिशासी अभियंता राजेश कुमार का कहना है कि नृसिंह मंदिर में पेयजल लाइन पर यदि पानी की आपूर्ति बाधित हो रही है, तो इसे दिखवाया जाएगा। जल्द ही कर्मचारियों के भेजकर लाइन का निरीक्षण कर मंदिर में सुचारु पेयजल आपूर्ति की जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/जगदीश