बसुकेदार क्षेत्र की 50 ग्राम सभाओं को जोड़ने वाला पुल जर्जर, अनशन की चेतावनी

बसुकेदार क्षेत्र की 50 ग्राम सभाओं को जोड़ने वाला पुल जर्जर, अनशन की चेतावनी
the-bridge-connecting-50-gram-sabhas-of-basukedar-area-is-dilapidated-warning-of-hunger-strike

विभागीय अभियंताओं की लापरवाही से जनता में आक्रोश रुद्रप्रयाग,14 अप्रैल (हि.स.)। बसुकेदार क्षेत्र को जोड़ने वाले बष्टी हाट-बष्टी के मोटरपुल की जर्जर स्थिति से क्षेत्र की जनता में आक्रोश बना हुआ है। पुल की हालत बद से बदतर हो चुकी है, जिससे कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। शिकायतों के बाद भी विभागीय अभियंता इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। जिला पंचायत उपाध्यक्ष सुमंत तिवाड़ी ने शीघ्र पुल की मरम्मत न होने पर आमरण अनशन की चेतावनी दी है। दरअसल, बष्टी हाट-बष्टी का मोटरपुल एलएण्डटी कंपनी के सिंगोली-भटवाड़ी परियोजना निर्माण के समय भारी सामान ले जाने के लिए निर्माण किया गया था। निर्माण के बाद कंपनी की ओर से इस पुल की स्थिति को लेकर किसी ने सुध नहीं ली। आज यह पुल जर्जर अवस्था में है। इस पुल पर सफर करना किसी खतरे से खाली नहीं है। जिला पंचायत उपाध्यक्ष सुमंत तिवाड़ी ने बताया कि बष्टी हाट-बष्टी का यह मोटरपुल 50 से ज्यादा ग्राम सभाओं को जोड़ता है और पुल की स्थिति इतनी भयावह है कि इस पर सफर करना अपनी जान को खतरे में डालने जैसा है। उपाध्यक्ष तिवाड़ी ने बताया कि इस पुल से आएदिन बसुकेदार एवं ऊखीमठ तहसील के उच्च अधिकारियों का आवागमन लगा रहता है, बावजूद इसके कोई भी मोटरपुल की सुध लेने को तैयार नहीं है। क्षेत्रीय विधायक के सुस्त रवैये से ग्रामीण आक्रोशित हैं। उन्होंने कहा कि अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों की लापरवाही का खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। मोटरपुल किसी बड़ी दुघटना को न्योता दे रहा है। उन्होंने कहा कि जल्द ही पुल की मरम्मत नहीं की गई तो क्षेत्रीय जनता को साथ लेकर आमरण अनशन किया जायेगा। इस संबंध में जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि मोटरमार्ग पुल के मरम्मतीकरण के लिए लोनिवि ऊखीमठ को निर्देश दिये जायेंगे और जल्द ही पुल का कार्य शुरू करवाया जायेगा। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित