समाज कल्याण एवं परिवहन मंत्री श्री यशपाल आर्य ने कोविड 19 संक्रमण के रोकथाम पर किये जा रहे उपायों की करी गहन समीक्षा
समाज कल्याण एवं परिवहन मंत्री श्री यशपाल आर्य ने कोविड 19 संक्रमण के रोकथाम पर किये जा रहे उपायों की करी गहन समीक्षा
उत्तराखंड

समाज कल्याण एवं परिवहन मंत्री श्री यशपाल आर्य ने कोविड 19 संक्रमण के रोकथाम पर किये जा रहे उपायों की करी गहन समीक्षा

news

हल्द्वानी : जनपद के कोविड 19 प्रभारी मंत्री तथा सरकार में समाज कल्याण एवं परिवहन मंत्री श्री यशपाल आर्य ने सोमवार को सर्किट हाउस में जिला प्रशासन द्वारा कोविड 19 संक्रमण के रोकथाम पर किये जा रहे उपायों की गहन समीक्षा की। श्री आर्य ने कहा कि आईसीएमआर के दिशा निर्देशो का सख्ती से अनुपालन कराने के निर्देश दिये। उन्होने कहा जनस्वास्थ्य, जिन्दगी के लिए सख्त कदम उठाने की जरूरत है। उन्होने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से कहा कि हमें कोविड के सैम्पलिंग बढाने की आवश्यकता है। उन्होने कहा कि शहरी क्षेत्रो के साथ ही जनपद के सुदूर पर्वतीय इलाकों मे भी सैम्पलिंग की संख्या बढाई जाए, क्योंकि पिछले दिनों देश के विभिन्न प्रान्तों से अप्रवासी उत्तराखण्डी अपने गांवोे को लौटे है। श्री आर्य ने कहा कि सभी को सुरक्षित रखना हम सबका नैतिक दायित्व तथा कोरोना संक्रमण के दौरान सरकार द्वारा जो सुविधाये दी जा रही है वह हर हाल में लोगों तक पहुचे। इसके लिए अधिकारियों व कर्मचारियों को टीम भावन से कार्य करना होगा। उन्होने कहा कि क्षेत्रवार बढते कोरोना पाजेटिव केसों के मददेनजर जो कंटेनमेंट जोन या माइक्रो कन्टेनमेंट जोन बनाये जा रहे है उनमे सख्ती के आवागमन प्रतिबंधित किया जाए तथा इन जोन के निवासियों को सभी आवश्यक वस्तुयें जैसे राशन,दूध,दवाईया,सब्जी व गैस उपलब्ध कराई जाए। श्री आर्य ने सामुदायिक संक्रमण रोकने के लिए सभी कारगर उपाय किये जांए। मास्क,सोशल डिस्टेंस तथा सेनेटाइजर के प्रयोग की अनिवार्यता को जनमानस को समझाया जाए यदि कोई व्यक्ति इन मानकों का पालन ना करे तो विभिन्न धाराओं मे उनका चालान करते हुये आर्थिक दण्ड भी लगाया जाए। इसके साथ ही सोशल मीडिया पर जो लोग भ्रामक सूचनाओं का प्रसार करते हुये पाये जाएं उनके विरूद्व कडी कार्यवाही भी अमल में लाई जायेगी। उन्होने कहा कि शासन द्वारा सुशीला तिवारी चिकित्साल को कोविड अस्पताल के रूप मे क्रियाशील किया है ऐसे मे मण्डल से आ रहे कोरोना पाजेटिव मरीजों की बेहतरी के लिए सभी आवश्यक सुविधायें प्राथमिकता पर उपलब्ध कराई जाएं। उन्होने कहा कि वर्तमान मे कोविड 19 के आलावा डेंगू, मलेरिया जैसी संक्रामक बीमारियो के फैलने को भी नकारा नही जा सकता है इसलिए एसटीएच के साथ जनपद के सभी अस्पतालों के चिकित्सक तथा पैरामेडिकल स्टाफ आपसी समन्वय तथा समर्पण भाव से कार्य करें। जनपद मे वर्तमान में मानसून सीजन की समीक्षा के दौरान उन्होने कहा कि प्रतिदिन मौसम विभाग द्वारा अलर्ट जारी किये जा रहे है जिसके आधार पर दैवीय आपदा नियंत्रण से सम्बन्धित व्यवस्थायें सुनिश्चित करें। इसके साथ ही तहसील, ब्लाक तथा मुख्यालय में स्थापित सभी आपदा कन्ट्रोल रूम निरंतर कार्यरत रहें तथा आपदा से सम्बन्धि सूचनाओं का तत्परता के साथ संकलन एवं संपेक्षण किया जाए। उन्होने कहा कि बरसात के दौरान जो सडकें बन्द हो जाती हैं उन्हे बिना विलम्ब किये तत्काल खोला जाए, क्योकि सडकें पहाडो की जीवन रेखा है इसके लिए संवेदनशील पर्वतीय मार्गो पर जेसीबी के साथ ही आवश्यकतानुसार श्रमिक भी रखे जाएं ताकि भूस्खलन होते ही मलवा साफ किया जा सके और सडक यातायात के खुल जाए। उन्होने कहा कि बरसात के दौरान पर्वतीय क्षेत्रों मे खादयान की समस्या भी आती है लिहाजा सभी खादयान के गोदामों मे सितम्बर माह तक का राशन भण्डारित कर दिया जाए। जिलाधिकारी श्री सविन बंसल ने बताया है कि जनपद में 211 कोरेन्टीन फैस्लीटी सेंटर स्थापित है जिनमें 5700 बैड लगाये गये है। उन्होने कहा वर्तमान मे डेंगू की बीमारी को देखते हुये सोबन सिह जीना बेस चिकित्साल में प्लेटलैस की स्थापना कर दी गई है इसके साथ ही बेस में 02 तथा सुशीला तिवारी अस्पताल में 03 एलिजा मशीन की स्थापना भी कर दी गई है। उन्होेने बताया कि मुक्तेश्वर में कोरोना लैब की स्थापना कर दी गई है इससे पर्वतीय क्षेत्रों से जो कोरोना सैम्पल सुशीला तिवारी लैब मे आ रहे थे उन सैम्पलों का मुक्तेश्वर लैब में जांच का कार्य प्रारम्भ हो चुका है। इस लैब के क्रियाशील होने से सुशीला तिवारी लैब पर दबाव कम हुआ है तथा सैम्पलों की जांच की संख्या मे भी वृद्वि भी हुई है। उन्होने कहा वर्तमान में एसटीएच में 800 से 900 सैम्पलों की जांच प्रतिदिन हो रही है इसे बढाकर 1500 शीघ्र कर दिया जायेगा। श्री बंसल ने बताया कि सुशीला तिवारी अस्पताल मे प्लाज्मा थेरेपी प्रारम्भ कर दी गई है, इसका लाभ कोरोना पाजेटिव मरीजो को मिलने लगा है। श्री बंसल ने बताया कि सुशीला तिवारी चिकित्सालय मे भर्ती मरीेजो को काउन्सिलिंग के साथ ही योगा, किताबे व वाईफाई की सुविधा दी जायेगी। उन्होने बताया प्रदेश के बाहर से आने वाले व्यक्तियों की सूचना पुलिस को ना देने व कोरेन्टाइन का पालन नही करने वालोे के खिलाफ कडी कार्यवाही अमल मे लाई जा रही है। जिलाधिकारी ने कहा कि ग्राम प्रधानों को ग्रामीण क्षेत्रों मे कोरेन्टाइन सेन्टरों मे सुविधायें बहाल करने के लिए 25 लाख की धनराशि अवमुक्त की जा चुकी है। उन्होने बताया कि जनपद मे अब तक 11778 सैम्पल लिये जा चुके है जिसमे से 840 लोगों की पाजेटिव रिपोर्ट आयी है। डेंगू तथा मलेरिया के संक्रमण को रोकने के लिए जिले के सभी निकायों द्वारा नियमित तौर पर फागिंग की जा रही है तथा कूडा उठाने का काम भी प्रतिदिन किया जा रहा है। इस महत्वपूर्ण कार्य की मानिटरिंग मुख्य नगर आयुक्त हल्द्वानी तथा अधिशासी अधिकारियों द्वारा स्वयं की जा रही है। दैवीय आपदा से निपटने के लिए प्रशासनिक स्तर की गई व्यवस्थाओं की जानकारी देते हुये श्री बंसल ने बताया कि 48 बाढ चैकियां स्थापित की गई है, 49 स्कूलों मे राहत केन्द्र बनाये गये हैं जिसमे पेयजल शौचालय, विद्युत व्यवस्था के साथ ही राहत सामग्री, आवश्यक दवाइयों के साथ ही उपकरणों की व्यवस्था भी की गई है। जिले में 12 सेटेलाईट फोनोें के माध्यम सूचनाओं का आदान प्रदान किया जा रहा है। रैस्क्यू कार्य के लिए जनपद मे 41 स्थानों पर अस्थाई हैलीपैड भी चिन्हित किये गये है। बाधित होने वाले मार्गो को तत्काल खोले जाने के लिए 31 जेसीबी निरंतर तैनात है तथा भूस्खलन होने पर तत्काल सडको को खोलने की कार्यवाही लोनिवि के अधिकारियों द्वारा की जा रही है। विधायक श्री रामसिह कैडा की जानकारी पर जिलाधिकारी ने जिला पूर्ति अधिकारी मनोज कुमार बर्मन को निर्देश दिये कि राशन कार्डो को ऑनलाइन किये जाने हेतु ब्लाकवार रोस्टर तैयार कर विशेष शिविर लगाकर छूटे हुये लोगों के राशनकार्ड ऑनलाइन कराये ताकि संक्रमण एवं आपदा के समय लोगों को आवश्यक वस्तुओ की आपूर्ति बिना किसी रूकावट के होती रहे। विधायक श्री संजीव आर्य ने बलियानाला के ट्रीटमेंट कराये जाने के लिए सिचाई विभाग तथा जायका को संयुक्त रूप से कार्यवाही करने की बात कही। अधीक्षण अभियन्ता संजय शुक्ल ने बताया कि लगभग 18 करोड की धनराशि उपलब्ध है तथा जायका से धनराशि मिलने के बाद अवशेष ट्रीटमेंट कार्य को कराया जायेगा। विधायक श्री रामसिह कैडा ने कहा कि जो बिल्डर्स बाहर से आ रहे है लोग कोरेन्टीन नही हो रहे है तथा बाहर घूम रहे है। उन्होने विकास खण्ड ओखलकांडा, भीमताल तथा धारी के ग्रामीण इलाकों के राशन कार्डो के ऑनलाइन कराये जाने की बात कही। बैठक मे जानकारी देते हुये वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री सुनील कुमार मीणा ने बताया कि जनपद में अब तक सोशल डिस्टेंसिग का उल्लंधन करने पर 1528 लोगों का चालान किया गया। उन्होने बताया कि मास्क नही पहनने पर 13151 लोगों का, क्वारटीन का उल्लंघन करने पर 84 लोगों का, सोशल मीडिया में अफवाह फैलाने पर 57 लोगों पर कार्यवाही की गई वही लाकडाउन का उल्लंघन करने पर अब तक कुल 649 एफआईआर की गई। बैठक मे मुख्य विकास अधिकारी श्री विनीत कुमार,प्रबन्ध निदेशक रोहित मीणा, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 भागीरथी जोशी,अधीक्षण अभियन्ता लोनिवि रणजीत सिह रावत,उपजिलाधिकारी विवेक राय, गौरव चटवाल,विधायक प्रतिनिधि जीवन सिह कार्की,एसीएमओ डा0 रश्मि पंत, जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी शैलेश कुमार व अन्य अधिकारी मौजूद थे।-doonhorizon.inUttarakhandfeed.xml