public-representatives-created-ruckus-boycott-due-to-lack-of-officials-in-bdc-meeting
public-representatives-created-ruckus-boycott-due-to-lack-of-officials-in-bdc-meeting
उत्तराखंड

बीडीसी बैठक में अधिकारियों के न आने पर जनप्रतिनिधियों ने काटा हंगामा, किया बहिष्कार

news

गोपेश्वर, 08 अप्रैल (हि.स.)। पंचायतों के गठन के बाद थराली ब्लॉक सभागार में करीब एक साल बाद बीडीसी की बैठक गुरुवार को बुलाई गई। बैठक में विकासखण्ड के क्षेत्र पंचायत सदस्य और ग्राम प्रधान अपने-अपने क्षेत्र की समस्याओं को अधिकारियों के सम्मुख रखने और और उनके निस्तारण के लिए बैठक में पहुंचे थे, लेकिन बैठक से जिला स्तरीय अधिकारियों के नदारद रहने और अन्य विभागों के विभागाध्यक्षो के न पहुंचने से प्रधान संगठन सहित क्षेत्र पंचायत सदस्यों ने बैठक का बहिष्कार करते हुए सदन से वॉक आउट किया। प्रधान संगठन के अध्यक्ष जगमोहन रावत की अगुवाई में सभी ग्राम प्रधान प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए सदन से बाहर आ गए और विकासखण्ड कार्यालय परिसर में मनरेगा कर्मियों के आंदोलन के समर्थन में सरकार के विरुद्ध नारेबाजी करने लगे। प्रधान संगठन के बहिष्कार के आह्वान के बाद सभी क्षेत्र पंचायत सदस्यों ने भी सदन का बहिष्कार करते हुए वॉक आउट किया। प्रधान संगठन के अध्यक्ष व अन्य जन प्रतिनिधियों ने कहा कि लंबे समय के इंतजार के बाद थराली क्षेत्र पंचायत की पहली बैठक बुलाई गई थी लेकिन इस बैठक में भी जिला स्तरीय अधिकारी नही पहुंचे। बैठक में विभागों के वो कर्मचारी भेजे गए हैं जिन्हें पंचायत प्रतिनिधि कई बार अपनी समस्याओं से अवगत करा चुके हैं। उन्होंने कहा कि जब सदन में अधिकारियों ने नहीं आना है तो इस बैठक का क्या औचित्य। उन्होंने कहा कि अगली बैठक 10 दिनों के भीतर इस शर्त पर बुलाई जाए कि बैठक में जिला स्तर के सभी अधिकारी और जिलाधिकारी स्वयं मौजूद रहेंगे अन्यथा अधिकारियों के न पहुंचने पर प्रतिनिधि इस तरह की बैठकों का बहिष्कार करते रहेंगें। ब्लॉक प्रमुख कविता नेगी ने भी क्षेत्र पंचायत सदस्यों और ग्राम प्रधानों के बहिष्कार पर बोलते हुए कहा कि जिला स्तरीय अधिकारियों और विभागों के विभागाध्यक्षों के बैठक में न पहुंचने पर सदन के सदस्यों में रोष है। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों की मांग जायज है और जिला स्तरीय अधिकारियों को भी बीडीसी की बैठकों में आना चाहिए। इस मौके पर क्षेत्र पंचायत सदस्य मंजू देवी, हरेंद्र बिष्ट, दमयंती जोशी, भास्कर पांडे, राजेंद्र बिष्ट, महावीर साह, प्रधान गुड्डी देवी, सरिता देवी, बसंती देवी, प्रेमा देवी, दमयंती देवी, विनोद जोशी, पंकज जोशी, हीरा सिंह बोरा, हरीश, ज्योति सुंदरलाल, आशु रावत, आशीष थपलियाल आदि मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार/जगदीश