अलविदा जुमे की नमाज अता कर मांगी कोरोना समाप्त करने की दुआ

अलविदा जुमे की नमाज अता कर मांगी कोरोना समाप्त करने की दुआ
prayers-to-end-the-corona-by-praying-goodbye

हरिद्वार, 07 मई (हि.स.)। अलविदा जुमे की नमाज विभिन्न मस्जिदो में कोविड दिशा निर्देशों के अनुरूप रोजेदारों ने अता की। मस्जिदों में प्रवेश कर रहे नमाजियों को सोशल डिस्टेंसिंग, मुंह पर मास्क के लिए लाउडस्पीकर से बार- बार चेताया गया। अलविदा जुमे की नमाज अता कर रोजेदारों ने देश से कोरोना महामारी समाप्त करने तथा खुशहाली की दुआएं मांगी। जुमा मस्जिद के हाफिज अहमद हसन ने कहा कि रमजान का पवित्र महीना हमें अनुशासन का पाठ पढ़ाता है। अनुशासित रहते हुए कोरोना गाइड लाइन का पालन करें। माहे रमजान में खुदा ताल्हा अपने बंदे की नेक दुआओं को कबूल करता है। मस्जिदे अली मुफ्ती शाहनवाज अमजदी ने रोजेदारों को ताकीद करते हुए कहा कि सदका ए फितर व जकात मिस्कीनों तक सही तरीके से दिया जाना चाहिए। संक्रमण के इस दौर में अपने घरों पर रहकर इबादत करें। मण्डी मस्जिद के हाफिज कुतबुदीन ने कहा कि माहे रमजान में खुदा ताल्हा अपने बंदों को नेकियों से नवाजता है। इंसानियत की खिदमत में अपना समय गंवाए एक दूसरे की भलाई से जीवन की कठिनाइयों को दूर किया जा सकता है। हाजी नईम कुरैशी व मकबूल कुरैशी ने सभी को अलविदा जुमे की बधाई दी। हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत