पुलिस ने गौरीकुंड से तप्तकुंड का जल मंगवाकर महिला को सौंपा

पुलिस ने गौरीकुंड से तप्तकुंड का जल मंगवाकर महिला को सौंपा
police-handed-water-to-taptakund-from-gaurikund-and-handed-over-the-woman

-दिल्ली से तप्तकुंड का जल लेने आई महिला की पुलिस ने की मदद - मान्यता है तप्तकुंड का जल पीने से कैंसर लेवल होता है कम रुद्रप्रयाग, 24 मई (हि.स.)। दिल्ली से तप्तकुंड का जल लेने पहुंची महिला को पुलिस ने रुद्रप्रयाग में ही गौरीकुंड से जल मंगवाकर सौंपा और वापस भेज दिया। उल्लेखनीय है कि जिले की सीमा पर चल रही चेकिंग के दौरान महिला को पुलिस ने रोक दिया था। जब उसने गौरीकुंड जाने की जिद की तो पुलिस ने कहा कि आगे जाने की अनुमति नहीं दी जा सकती है। महिला ने बताया कि वह गौरीकुंड से तप्तकुंड का जल लेने आई है। तप्तकुंड का जल देने से पिता की हालत ठीक हो रही है। वर्तमान में उसके पिता दिल्ली एम्स में भर्ती हैं। उनके किन्हीं रिश्तेदारों द्वारा गौरीकुंड का अमृत उनके पिता को दिया गया, जिससे उनके पिता का कैंसर लेवल 36 प्रतिशत से घटकर एक प्रतिशत पर आ गया है, इसलिए वह वहां जाकर अमृत जल लेकर जाना चाहती है। खुशबू ने कहा मान्यता है कि इस जल से कैंसर लेवल कम हो जाता है। महिला के बारे में पुलिस ने जानकारी ली तो उसने अपना नाम खुशबू जायसवाल पुत्री विश्वनाथ जायसवाल निवासी भाजपाई रानी, जिला देवरिया, उत्तर प्रदेश बताया। महिला की आस्था को देखते हुए यहां तैनात वरिष्ठ उप निरीक्षक विजेन्द्र सिंह कुमाईं ने महिला को आश्वासन दिया कि यहां से आगे तो नहीं जा सकती हैं मगर यदि तुम्हें इतनी श्रद्वा और विश्वास है तो तप्तकुंड के जल का प्रबंध कराया जाएगा। युवती को कलियासौड़ में रुकने की व्यवस्था पुलिस ने कराई। तत्पश्चात उनके द्वारा उपरोक्त सम्पूर्ण घटनाक्रम चौकी प्रभारी गौरीकुंड योगेश कुमार से साझा करते हुए एक बोतल तप्तकुंड का जल भिजवाये जाने का अनुरोध किया गया। एक बोतल तप्तकुंड का जल रुद्रप्रयाग भिजवाया गया। जल प्राप्त होने पर कोतवाली रुद्रप्रयाग पुलिस द्वारा यह जल खुशबू जायसवाल को दिया गया। खुशबू यह जल लेकर दिल्ली वापस चली गई। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित