pilgrims-suffer-due-to-sludge-water-reaching-the-ganges-in-rishikesh
pilgrims-suffer-due-to-sludge-water-reaching-the-ganges-in-rishikesh
उत्तराखंड

ऋषिकेश में गंगा में कीचड़युक्त पानी पहुंचने से श्रद्धालुओं को हुई परेशानी

news

ऋषिकेश,11 फरवरी (हि.स.)। चमोली जिले के रैणी गांव में ग्लेशियर टूटने से आई बाढ़ के चलते मौनी अमावस्या पर गंगा स्नान करने वाले श्रद्धालुओं को मटमैले पानी में स्नान करना पड़ा। गादले जल के कारण गंगा स्नान करने वाले श्रद्धालुओं को काफी दिक्कतों का भी सामना करना पड़ा। जल नियंत्रण बोर्ड के सुधीर ढौंडियाल ने बताया कि यह गाद भरा जल बुधवार की सुबह से ही आ रहा है। लेकिन गुरुवार की सुबह से गंगा का पानी और भी गाढ़ा हो गया है। उन्होंने बताया कि चमोली में सुरंग से गाद निकालने का काम चल रहा है। इससे पानी में कीचड़ युक्त मिट्टी भी आ रही है। इससे मौनी अमावस्या पर गंगा स्नान करने वाले श्रद्धालुओं को दिक्कत हो रही है। तमाम लोग आचमन से ही काम चला रहे हैं। उल्लेखनीय है कि चमोली के रैणी गांव में विगत 7 फरवरी को ग्लेशियर फटने से भारी तबाही हुई है। हिन्दुस्थान समाचार /विक्रम-hindusthansamachar.in