पौड़ी : दलित युवती से दुष्कर्म मामले की जांच अब रेगुलर पुलिस करेगी

पौड़ी : दलित युवती से दुष्कर्म मामले की जांच अब रेगुलर पुलिस करेगी
pauri-regular-police-will-investigate-the-rape-of-a-dalit-girl

- 20 मार्च को दलित युवती से दो युवकों ने किया था दुष्कर्म पौड़ी, 25 मार्च (हि.स.)। तहसील पौड़ी के राजस्व क्षेत्र में दलित युवती से दुष्कर्म मामले की जांच अब रेगुलर पुलिस करेगी। एसएसपी ने सीओ सदर पीएल टम्टा को जांच अधिकारी नियुक्त किया है। एसएसपी पी रेणुका देवी ने कहा कि मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपितों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। आरोपित सेना का जवान बताया जा रहा है। पौड़ी तहसील के एक गांव में 20 मार्च दो युवकों द्वारा एक दलित युवती के साथ दुष्कर्म किया गया था। वहीं जब पीड़िता ने घटना की शिकायत राजस्व पुलिस से की तो आरोपितों के स्वजनों ने पीड़िता को घर बुलाकर जमकर पीट दिया था। राजस्व पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर आरोपितों के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट व दुष्कर्म के आरोप में नामजद मुकदमा दर्ज किया था, लेकिन घटना के चार दिन बाद भी आरोपितों को गिरफ्तार नहीं कर पाई थी। राजस्व पुलिस घटना के दिन से ही आरोपितों के फरार होने की बात कह रही थी जबकि पीड़िता का कहना था कि आरोपित गांव में ही घूम रहे हैं। पीड़िता ने राजस्व पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए थे। बाद में यह मामला रेगुलर पुलिस को स्थानांतरित कर दिया गया है। एसएसपी पी रेणुका देवी ने बताया कि उक्त प्रकरण रेगुलर पुलिस को मिल चुका है। प्रकरण की जांच सीओ सदर पीएल टम्टा को सौंपी गई है। जल्द आरोपित को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पूरे प्रकरण में राजस्व पुलिस ने बरती लापरवाही इस पूरे प्रकरण में राजस्व पुलिस की घोर लापरवाही सामने आई है। राजस्व पुलिस आरोपितों के गांव में होने के बावजूद भी उन्हें गिरफ्तार नहीं कर पाई। इतना ही नहीं आरोपितों के स्वजनों ने पीड़िता को घर में बुलाकर पीटा। इसके बावजूद भी राजस्व पुलिस मूक दर्शक बनी रही। स्वयं पीड़िता ने राजस्व पुलिस पर मामले को गंभीरता से न लेने का आरोप लगाया है। हिन्दुस्थान समाचार/ राजीव