सड़क चौड़ीकरण की मांग को लेकर अब ग्रामीण करेंगे घाट से देहरादून तक पदयात्रा

सड़क चौड़ीकरण की मांग को लेकर अब ग्रामीण करेंगे घाट से देहरादून तक पदयात्रा
now-villagers-will-undertake-a-padyatra-from-ghat-to-dehradun-to-demand-for-road-widening

गोपेश्वर, 01 अप्रैल (हि.स.)। नंदप्रयाग-घाट डेढ़ लेन सड़क चौड़ीकरण की मांग को लेकर प्रदर्शनकारियों ने अब घाट से देहरादून की पदयात्रा का ऐलान कर दिया है। यहां क्षेत्रीय ग्रामीणों की ओर से आगामी चार अप्रैल को घाट ब्लॉक मुख्यालय से पदयात्रा शुरू करने का ऐलान किया गया है। वहीं गुरुवार को आंदोलन के 118वें दिन भी घाट ब्लॉक मुख्यालय पर क्षेत्रीय ग्रामीणों का अनशन जारी रहा। वहीं आंदोलनकारियों ने सरकार की ओर से किये डिफेक्ट कटिंग के शासना देश की प्रतियां जलाकर विरोध जताया। घाट ब्लॉक के 70 से अधिक गांवों के ग्रामीणों ने पांच दिसम्बर से नंदप्रयाग-घाट डेढ लेन सड़क चौड़ीकरण को लेकर ब्लॉक मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन शुरू किया, लेकिन एक माह से अधिक का समय गुजरने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं होने पर ग्रामीणों ने 10 जनवरी को मानव श्रृंखला बनाकर विरोध जताते हुए आमरण अनशन शुरू कर दिया। मामले में एक मार्च को मांग को लेकर विधानसभा कूच के दौरान दीवालीखाल में पुलिस की ओर से लाठीचार्ज किया गया, जिसके बाद बढ़ते विरोध को देखते हुए गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत की मुख्यमंत्री के रूप में ताजपोशी की गई, जिसके बाद ग्रामीणों में डेढ़ लेने सड़क चौड़ीकरण को लेकर कार्रवाई की आस जगी थी। लेकिन वर्तमान तक कोई सकारात्मक कार्रवाई न होती देख अब आंदोलनकारियों ने आगामी चार अप्रैल से घाट से देहरादून तक पदयात्रा कर जन समर्थन जुटाने और सरकार से मांग पर कार्रवाई के लिये दबाव बनाने की योजना बनाई गई है। गुरुवार को भूखहड़ताल के 82वें दिन ग्राम प्रधान मोख सुमेर सिंह, कर्ण सिंह और अवतार भंडारी अनशन पर डटे रहे, जबकि देवेंद्र जमालू, मकर सिंह, अख्तर खान, हयात बिष्ट, भूपेंद्र सिंह, दीपक रतूड़ी आदि ने विरोध प्रदर्शन किया। हिन्दुस्थान समाचार/जगदीश

अन्य खबरें

No stories found.