गंगा दशहरा पर गंगा पर हुआ राष्ट्रीय वेबिनार

गंगा दशहरा पर गंगा पर हुआ राष्ट्रीय वेबिनार
national-webinar-on-ganga-held-on-ganga-dussehra

नैनीताल, 20 जून (हि.स.)। गंगा दशहरा के उपलक्ष्य में कुमाऊं विश्वविद्यालय नैनीताल के शोध एवं प्रसार निदेशालय, राष्ट्रीय सेवा योजना प्रकोष्ठ, कूटा, डॉ. वाईपीएस पांगती फॉउंडेशन, एसएमडीसी नैनीताल, इग्नू के द्वारा ‘गंगा रिजूविनेशन अवर हेरिटैज’ विषय पर राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया। वेबिनार का संचालन विश्वविद्यालय के शोध एवं प्रसार निदेशक प्रो. ललित तिवारी ने किया। । कार्यक्रम का शुभारंभ कुमाऊं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.एनके जोशी ने किया। उन्होंने कहा कि देश की 43 फीसद जनसंख्या गंगा से सीधे प्रभावित होती है। औद्योगिक कचरे ने इसे बुरी तरह से प्रदूषित किया है। एफएनएए के पूर्व निदेशक प्रो.गोपाल सिंह रावत ने गंगा में मिलने वाली सभी नदियों को स्वच्छ एवं संरक्षित करने और हिमालय को भी संरक्षित करने की आवश्यकता जताते हुए युवा वैज्ञानिकों से आगे आने की अपील की। एफएनएएस बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय वाराणसी के प्रो. एनकेदुबे ने गंगा की वैज्ञानिकता, धार्मिकता तथा सरकारी प्रयासों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि गंगा विश्व विरासत है। उत्तराखंडवासी भाग्यशाली हैं कि यहां पांच प्रयाग हैं। उन्होंने बताया कि गंगा में सीवरेज डिस्पोजल तथा औद्योगिक कचरा 204 एमएलडी एवं 300 एमएलडी तक है। रिजूविनेशन एंड क्यूश लाइफ मोनेटिरिगं डब्लूआईआई देहरादून की प्रोजक्ट निदेशक प्रो.रुचि बडौला ने कहा कि गंगा में 5 प्रजातियों के स्तनधारी, 177 प्रजातियों की चिड़िया, 27 प्रजातियों के रेपेटाइल, 378 प्रजातियों की मछलियां, 3 प्रजातियों के ऊदबिलाव, 3 प्रकार की डॉल्फिन, 9 प्रकार के कठोर कवच कछुआ, 4 प्रकार के मुलायम कवच कछुआ मिलते हैं। वेबिनार में डॉ. गिरीश रंजन तिवारी, डॉ. हितेश पंत, डॉ. डीके जोशी, डॉ. लज्जा भट्ट, डॉ. नीलू लोधियाल, डॉ. ललित मोहन, डॉ. विवेक लोहिया, डॉ. हरीश अंडोला, डॉ. भावना कर्नाटक, डॉ. आशा रानी, डॉ. गीता तिवारी, डॉ. कृष्ण कुमार टम्टा, डॉ, मैत्री नारायण, डॉ. मनोज कुमार, डॉ. नन्दन सिंह मेहरा, डॉ. शशिबाला उनियाल, डॉ. सुनील कुमार सिंह, डॉ. सुनीता उपाध्याय, डॉ. सुरेश पांडे, डॉ. वैद्यनाथ झा, डॉ. विशाल कुमार, डॉ. भारत पांडे डॉ. जगमोहन सिंह, डॉ. पैनी जोशी, डॉ. श्रृति साह, डॉ. सुषमा टम्टा, डॉ. उषा जोशी, दिशा उप्रेती, वसुंधरा लोधियाल के साथ लगभग 98 प्रतिभागियों ने प्रतिभाग किया। आयोजन में प्रो. ललित तिवारी, डॉ. आशीष तिवारी, डॉ. विजय कुमार, डॉ. नंदन मेंहरा, डॉ. नवीन पांडे तथा दीक्षा बोहरा ने महत्वपूर्ण योगदान दिया। हिन्दुस्थान समाचार/डॉ.नवीन जोशी

अन्य खबरें

No stories found.