नैनीताल सहित देश की दो हजार से अधिक महिला अधिवक्ताओं ने केंद्रीय गृह मंत्री को पत्र भेजकर लगाई गुहार
नैनीताल सहित देश की दो हजार से अधिक महिला अधिवक्ताओं ने केंद्रीय गृह मंत्री को पत्र भेजकर लगाई गुहार
उत्तराखंड

नैनीताल सहित देश की दो हजार से अधिक महिला अधिवक्ताओं ने केंद्रीय गृह मंत्री को पत्र भेजकर लगाई गुहार

news

नैनीताल, 27 जुलाई (हि.स.)। दो हजार से अधिक महिला अधिवक्ताओं ने केंद्रीय गृहमंत्री को प्रत्यावेदन भेजकर कोरोना के कारण आर्थिक तंगी झेल रहे अधिवक्ता समाज के लिए आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2015 के अंतर्गत सहायता एवं अप्रत्यक्ष (वर्चुअल) न्यायालयों के ढांचे को सुधारने की गुहार लगाई है। प्रत्यावेदन में महिला अधिवक्ताओं ने लॉकडाउन के कारण मार्च 2020 से न्यायिक प्रणाली के सुचारू रूप से पूर्णतः कार्य न करने से आर्थिक तंगी झेल रहे समस्त अधिवक्ता समाज के लिए उचित नियम एवं शर्तों पर आसान किश्तों पर ऋण दिए जाने की केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से फरियाद की है। 21 जुलाई 2020 को प्रारम्भ किए गए इस हस्ताक्षर अभियान में 2000 से अधिक महिला अधिवक्ताओं ने इस पहल के लिए अपनी सहमति जताई है। प्रत्यावेदन की प्रतियां प्रधानमंत्री, विधि एवं न्याय मंत्री तथा वित्त मंत्री कार्यालय भी भेजी गई हैं। प्रत्यावेदन में महिला अधिवक्ताओं ने कहा है कि अनलॉक की प्रक्रिया के दौरान न्यायालय बहुत ही कम कार्य कर पा रहे हैं। ऐसे में अप्रत्यक्ष (वर्चुअल) न्यायालयों की आवश्यकता एवं प्रासंगिकता बढ़ गयी है। अधिकतर अधिवक्ताओं के पास लैपटॉप, स्कैनर, अच्छे सिग्नल हेतु उचित मानक वाले वाईफाई जैसे इलेक्ट्रॉनिक उपकरण आदि जैसा उचित ढांचा नहीं है। विभिन्न बार एसोसिएशन भी इस सबके लिए सक्षम नहीं दिखायी पड़ती हैं। इस कारण अधिवक्ता न्याय निष्पादन प्रणाली को उचित प्रकार से सहायता नहीं कर पा रहे हैं। यदि मंत्रालय इस प्रत्यावेदन की सुनवाई करता है तो उनका यह कदम समस्त अधिवक्ता समाज को कोरोना के कारण झेल रहे आर्थिक तंगी से उबारने में एवं भविष्य के अप्रत्यक्ष (वर्चुअल) न्यायालयों के ढांचे को सुधारने व न्याय की सुलभ पहुंच में आम आदमी के हितों को भी सुनिश्चित करने में सहायक होगा। प्रत्यावेदन भेजने वालों में उत्तराखंड से जानकी सूर्या, ममता जोशी, दीपशिखा पंत जोशी, शैलबाला नेगी, अल्का चोपड़ा, गौरा देवी, पुष्पा भट्ट, सीमा चौधरी, नेहा शर्मा, दीपा आर्या, आदि महिला अधिवक्ता शामिल हैं। हिन्दुस्थान समाचार/नवीन जोशी-hindusthansamachar.in