जोशीमठ महाविद्यालय को जमीन हस्तांतरित
जोशीमठ महाविद्यालय को जमीन हस्तांतरित
उत्तराखंड

जोशीमठ महाविद्यालय को जमीन हस्तांतरित

news

जोशीमठ, 01अगस्त (हि.स.)। राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय जोशीमठ के नए प्राचार्य प्रोफेसर डॉ. विश्वनाथ खाली ने महाविद्यालय को हस्तांतरित 53 नाली 10 मुट्ठी भूमि का निरीक्षण किया। यह जमीन सिंचाई एवं अनुसंधान नियोजन खंड ने दी है। अब महाविद्यालय में वर्षों से लंबित विकास एवं निर्माण कार्य हो सकेंगे। प्राचार्य प्रोफेसर खाली ने बताया कि इस जमीन में छात्रावास, क्रीडांगन, विज्ञान संकाय भवन, आवासीय परिसर और पीजी भवन बनना है। संपूर्ण भूमि का स्वामित्व महाविद्यालय को मिल गया है। जमीन में बने टिन शेड्स का उपयोग दो स्थानीय परिवार गौशाला के रूप में कर रहे हैं। उन्हें एक माह में खाली करने के निर्देश दिए गए हैं। प्राचार्य के साथ डॉ.गोपाल कृष्ण सेमवाल, डॉ.सुमन सिंह, डॉ.चरण सिंह राणा, डॉ.मुकेश चंद्र, डॉ. राहुल तिवारी,, डॉ.धीरेन्द्र सिंह, डॉ.नवीन कोहली, डॉ.आनंन्द कुमार तथा कार्यालय लिपिक रणजीत सिंह आदि थे। उल्लेखनीय है कि सीमांत क्षेत्र जोशीमठ के इस महाविद्यालय की भूमि और शिक्षकों की तैनाती के लिए कई आंदोलन हो चुके हैं। हिन्दुस्थान समाचार/प्रकाश कपरूवाण/मुकुंद-hindusthansamachar.in