मुखेम में जड़ी-बूटी शोध का बनेगा उपकेंद्र

मुखेम में जड़ी-बूटी शोध का बनेगा उपकेंद्र
herbal-research-will-become-a-sub-center-in-mukheem

नई टिहरी, 01 अप्रैल (हि.स.)। राज्य के कृषि एवं कृषक कल्याण विभाग के तहत जड़ी-बूटी शोध एवं विकास संस्थान जनपद टिहरी गढ़वाल के प्रतापनगर ब्लाक के मुखेम में उपकेंद्र स्थापित करेगा। उपकेंद्र स्थापना के लिए पूर्व से ही यहां पर 4.002 हेक्टेअर बंजर भूमि का समतलीकरण व दीवार निर्माण का काम पूरा किया जा चुका है, जहां पर औषधीय पौधशाला तैयार की जाएगी। काबीना मंत्री सुबोध उनियाल ने उपकेंद्र के लिए स्वीकृत सभी कामों की गुणवत्ता नियंत्रण के मानकों का परिपालन करते हुये समयबद्ध तरीके से कामों को पूरा करने के निर्देश जारी किये हैं। अवगत कराया कि उपकेंद्र में कार्यालय व प्रशिक्षण कक्ष का भी प्रावधान किया गया है, जिसके लिए 52 लाख के आंगणन को बीएम 80 का अनुमोदन प्रदान कर दिया गया है। जड़ी-बूटी शोध एवं विकास संस्थान निरंतर औषधीय पादपों के उत्पादन के क्षेत्र विस्तार पर फोकस कर रहा है। इससे पूर्व जड़ी-बूटी शोध संस्थान राजकीय पौधशाला धनोल्टी नर्सरी में चैनिलिंग युक्त घेरवाड़, हार्वेस्टिंग टैंक आदि के निर्माण के लिए 62.27 लाख का बजट अनुमोदित किया जा चुका है। धनोल्टी पौधशाला में उच्चशिखरीय औषधीय पादप पार्क की स्थापना पर भी जोर दिया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/प्रदीप डबराल/

अन्य खबरें

No stories found.