हर्षोल्लास से मनाया गया गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर का जन्मोत्सव

 हर्षोल्लास से मनाया गया गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर का जन्मोत्सव
gurudev-rabindranath-tagore39s-birthday-was-celebrated-with-great-enthusiasm

-संगोष्ठी में प्राप्त शोध पत्रों एवं आलेखों को पुस्तक के रूप में भी प्रकाशित किया जाएगा नैनीताल, 07 मई (हि.स.)। शांति निकेतन ट्रस्ट फॉर हिमालया के तत्वावधान में गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर का जन्मोत्सव शुक्रवार को हर्षोल्लास से मनाया गया। इसका उद्घाटन वर्चुअल माध्यम से मुख्य अतिथि के रूप में केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने किया। इस अवसर पर ‘शिक्षा नीति 2020 तथा गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर’ विषय पर एक अंतराष्ट्रीय संगोष्ठी का भी आयोजन किया गया। ट्रस्ट के सचिव प्रो. अतुल जोशी ने बताया कि इस वर्ष गुरुदेव का जन्मोत्सव कई अर्थों में विशेष है क्योंकि यह वर्ष जहाँ एक ओर गुरुदेव द्वारा 1921 में स्थापित विश्वभारती विश्वविद्यालय, शांति निकेतन पश्चिम बंगाल के शताब्दी वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है वहीं, इसी वर्ष लगभग 35 वर्षों के बाद देश को नयी शिक्षा नीति मिली है, जिसके निर्माण में गुरुदेव टैगोर के शिक्षा दर्शन का महत्त्वपूर्ण प्रभाव स्पष्ट दृष्टिगोचर होता है। इसी कारण जन्मोत्सव के अवसर पर आयोजित की जा रही अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी का विषय ‘शिक्षा नीति 2020 तथा गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर’ रखा गया है। उन्होंने कहा कि इस अवसर के लिए प्राप्त शोध पत्रों एवं आलेखों को सम्पादित पुस्तक के रूप में भी प्रकाशित किया जाएगा। उत्तराखंड के लिए यह गौरवान्वित होने का भी अवसर है क्योंकि, इसी वर्ष केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. ‘निशंक’ एवं नैनीताल के सांसद अजय भट्ट के सार्थक प्रयासों के परिणामस्वरूप, विश्वभारती विश्वविद्यालय द्वारा गुरुदेव की कर्मभूमि रहे रामगढ़ उत्तराखंड में उसके प्रथम परिसर की स्थापना का निर्णय किया गया है, जिससे रामगढ़ क्षेत्र सहित समस्त उत्तराखंड के जनमानस में खुशी की लहर है। जन्मोत्सव कार्यक्रम को विशिष्ट अतिथि के रूप में क्षेत्रीय सांसद अजय भट्ट, विश्वभारती विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बिद्युत चक्रबर्ती, विदेश सचिव रिबा गांगुली दास, कुमाऊं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एनके जोशी तथा कैथोलिक यूनिवर्सिटी अमेरिका के डॉ. रिचर्ड डी. शार्प आदि ने भी संबोधित किया है। हिन्दुस्थान समाचार/डॉ.नवीन जोशी/चंद्र