पूर्व मंत्री भंडारी देवस्थानम बोर्ड के अफसरों से खफा

पूर्व मंत्री भंडारी देवस्थानम बोर्ड के अफसरों से खफा
former-minister-bhandari-devasthanam-upset-with-board-officials

गोपेश्वर, 08 जून (हि.स.)। पूर्व काबीना मंत्री व कांग्रेस नेता राजेंद्र सिंह भंडारी देवस्थानम बोर्ड के अधिकारियों से खफा हैं। उन्होंने कहा है कि ब्यूरोक्रेट तभी हावी होते हैं जब नाकारा जनप्रतिनिधियों का जनता चुनाव करती है और इसका खामियाजा उसे भुगतना पड़ता है। गोपेश्वर में मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत में भंडारी ने कहा कि देवस्थानम बोर्ड की इतनी हिम्मत कैसे हुई कि उसने सदियों पुरानी धार्मिक परंपरा के साथ छेड़खानी करते हुए ब्रह्म मुर्हूत में होने वाली पूजाओं को साढे़ सात बजे से शुरू करवा दिया। उन्होंने जोशीमठ खेल मैदान को हेलीड्रम व हेलीपैड बनाये जाने का विरोध किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार में यहां पर खेल मैदान बनाये जाने के लिए 15 लाख रुपये की टोकन मनी दी गई थी। इसका उपयोग भी किया गया है। अब भाजपा के विधायक हास्यास्पद बयान दे रहे है कि यहां पर स्टेडियम बनाने के बाद हेलीकाप्टर उतारे जाएं। उन्होंने कहा कि हेलीड्रम बनने का मतलब होता है कि यहां पर हेलीकाप्टर उतारने से लेकर रखरखाव तक के सारी व्यवस्थायें की जाएंगी। ऐसे में यहां पर खेल प्रतियोगिता कैसे संपन्न होंगी ,इसका क्या जबाव है। पूर्व काबीना मंत्री राजेंद्र सिंह भंडारी ने बताया कि हंस फाउंडेशन के संस्थापक माता मंगला व भोले जी महाराज की ओर से चमोली जिले के प्रत्येक गांव के लिए कोरोना किट भेजी गई है जिसमें दवाओं के साथ ही अन्य सामग्री भी उपलब्ध करवायी गई है। उन्होंने पत्रकारों को भी कोरोना योद्धा बताते हुए इस दौरान अपने कार्योें में बिना भय के जुटे होने पर उनका भी आभार प्रकट करते हुए पत्रकारों को हंस फाउंडेशन की ओर से उपलब्ध सामग्री का वितरण किया।हिन्दुस्थान समाचार/जगदीश