बेटी के आग्रह पिता ने शादी मे नहीं परोसी शराब

बेटी के आग्रह पिता ने शादी मे नहीं परोसी शराब
father-urges-daughter-does-not-serve-alcohol-in-marriage

पौड़ी, 04 मई (हिं. स.)। जिले के कनाकोट-धौलान गांव में पहली बार शादी में बिना शराब परोसे ही दुल्हन को विदा किया गया। गांव में बेटी ने अपनी शादी में पिता से शराब न परोसे जाने का आग्रह किया। पिता ने बेटी के आग्रह का मान रखते हुए एक बूंद भी शादी में शराब नहीं परोसी। ग्रामीणों ने गांव की बेटी की पहल का स्वागत किया। कहा कि हर युवा में गांव की बेटी जैसा जज्बा हो तो, हम इस सामाजिक बुराई से जीत सकते हैं। जनपद पौड़ी के कंडारस्यूं पट्टी स्थित ग्राम कनाकोट-धौलान में ग्रामीण बलंवत सिंह नेगी की बेटी गीता की शादी धूमधाम से संपन्न हुई। ग्रामीणों के लिए गांव की बेटी गीता की शादी हमेशा के लिए यादगार बन गई है। गीता ने पिता बलवंत से शादी में शराब न परोसे जाने का आग्रह किया। पिता ने बेटी के आग्रह को आन-बान-शान व सम्मान समझकर पूर्ण करने का संकल्प लिया। दुल्हन के चाचा मनोज नेगी ने कहा कि हमारी युवा पीढ़ी शराब बन्द करने का संकल्प ले ले, तो हमारे पहाड़ और पहाड़ का भविष्य बहुत अच्छा हो सकता है। ग्रामीण व आचार्य गिरीश चंद्र नौडियाल ने कहा कि गांव के ग्रामीण पहली बार बिना शराब परोसे शादी समारोह शामिल होकर स्वयं को गदगद महसूस कर रहे हैं। ग्रामीणों ने खुशी-खुशी दुल्हन को विदा किया। आचार्य नौडियाल ने कहा कि हमारे क्षेत्रीय विधायक भी शादी में शराब बंदी पर पुरस्कृत करते हैं। जो ग्रामीणों के मनोबल को बढ़ाने व सामाजिक बुराई को दूर करने में मददगार होगी। नवदंपत्ति अनीष व गीता ने शादी को यादगार बनाए रखने के लिए समलौण पौध रोपी। रोपे पौधे की संरक्षण की जिम्मेदारी दुल्हन की मां दीना देवी ने ली। ग्राम कनाकोट-धौलान के ग्रामीणों में शादी समारोह बिना शराब परोस संपन्न होने पर सबसे ज्यादा खुशी ग्रामीण महिलाओं में देखने को मिली। इस अवसर पर दुल्हन के भाई धीरज नेगी, नीरज नेगी, बहन पिंकी, बबीता, रितिका, नानी पार्वती देवी, ग्रामीण दिनेश चन्द्र नौडियाल, जनार्धन, महावीर प्रसाद नौडियाल, नरेन्द्र रावत, महावीर सिंह, आनंद रावत आदि मौजूद रहे। हिंदुस्थान समाचार / राजेश / प्रभात ओझा