fair-administration-should-allot-plots-in-bairagi-camp-hathayogi
fair-administration-should-allot-plots-in-bairagi-camp-hathayogi
उत्तराखंड

बैरागी कैंप में प्लाटों का आवंटन करे मेला प्रशासनः हठयोगी

news

हरिद्वार, 21 फरवरी (हि.स.)। बाबा बलराम दास हठयोगी ने रविवार को कहा कि बैरागी कैंप में सदियों से बैरागी अखाड़ों की छावनियां लगती आई हैं। यह बैरागियों का मौलिक अधिकार है। मेला प्रशासन बैरागी कैंप में बैरागी संतों के प्लाटों का आवंटन कर छावनियां लगाने का मार्ग प्रशस्त करे। मेला प्रशासन से यह मांग उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में की। हठयोगी ने कहा कि सभी अखाड़ों के यहां अपने स्थान हैं। सब कुंभ की तैयारी कर रहे हैं। बैरागी संत सदियों से बैरागी कैंप में अपने डेरे लगाते आए हैं। बैरागियों के अतिरिक्त अन्य अखाड़ों की छावनियों में निर्माण कार्य हो रहे हैं। भले ही टेंट न लगाए जा रहे हों, किन्तु टीन शेड लगाए जा रहे हैं। इसलिए बैरागी संतों के लिए प्रशासन को बैरागी कैंप में प्लाटों का आवंटन शुरू करना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रयागराज में 27 फरवरी को माघ मेले का समापन हो जाएगा। उसके बाद बैरागी संत यहां अपने डेरे लगाएंगे। बाबा हठयोगी ने कहा कि बैरागियों के तीन अखाड़े और 27 खालसे हैं। उन्होंने मेला प्रशासन और अखाड़ा परिषद पर बैरागी संतों की उपेक्षा करने का आरोप लगाया। रामानंदाचार्य स्वामी अयोध्याचार्य महाराज ने कहा कि वे अखाड़ा परिषद का बहिष्कार कर चुके हैं। यदि अखाड़ा परिषद की बैठक बैरागी कैंप में होती है तो वे शामिल होंगे। यदि किसी अन्य अखाड़े में बैठक का आयोजन किया गया तो वह मान्य नहीं होगी। हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत/मुकुंद

AD
AD