डॉ. अम्बेडकर ने सामाजिक असमानता दूर करने का काम किया : तीरथ

डॉ. अम्बेडकर ने सामाजिक असमानता दूर करने का काम किया : तीरथ
dr-ambedkar-worked-to-remove-social-inequality-tirath

देहरादून, 14 अप्रैल (हि.स.)। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत बुधवार को लोअर तुनवाला में भारत रत्न डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर की 130वीं जयंजी कार्यक्रम में शिरकत की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय संविधान के प्रमुख शिल्पी, महान नेता और समाज सुधारक डॉ भीमराव अम्बेडकर ने सामाजिक असमानता को दूर करने तथा वंचित वर्गों को सामाजिक न्याय दिलाने के के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया। उन्होंने भारत के संविधान में तत्कालीन सामाजिक भेदभाव मिटाने तथा सभी को अवसर की समानता सुनिश्चित करने के लिए संविधान में कई महत्वपूर्ण प्रावधान किए। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार भी गरीब एवं वंचितों के विकास के लिए कृत्संकल्पित है। उन्होंने लोअर तुनवाला में स्थित रविदास भवन एवं डॉ. अम्बेडकर बारात घर के चारदीवारी निर्माण एवं मरम्मत कार्य की घोषणा भी की। उन्होंने कहा कि डॉ. अम्बेडकर आजीवन मानवता की सेवा में समर्पित रहे। उन्होंने कहा कि बाबा साहब का यह सपना था कि भारत में जातिवाद खत्म हो, सामाजिक समानता के अवसर हों, अधिकारों की रक्षा हो। हमारे संविधान में देश के प्रत्येक नागरिक को, चाहे वह किसी भी जाति, संप्रदाय या पंथ से हो, समानता का अधिकार प्राप्त है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार कोरोना वायरस से लड़ाई में हर संभव प्रयास कर रही है। टेस्टिंग के साथ ही वैक्सीनेशन को भी बढ़ाया गया है। कोरोना वैक्सीनेशन उत्सव के रूप में तेजी से टीकाकरण का कार्य किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में टीकाकरण के लिए ही सम्भव व्यवस्थाएं की गई हैं। टीकाकरण को जनपद से लेकर ब्लाक व न्याय पंचायत स्तर पर कराने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। इस अवसर पर भाजपा विधायक और प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक एवं विधायक उमेश शर्मा काऊ, डॉ. उदय सिंह पुंडीर, भगवत प्रसाद मकवाना, रविन्द्र कटारिया, रतन सिंह चौहान, सतेंद्र नेगी, कमलेश भट्ट, अनिका खेत्री, अनिल कुमार ,हरबंसलाल, हरबंस, सोनू गहलोत समेत काफी संख्या में लोग उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार/ साकेती