लम्बित समस्याओं के निराकरण के संदर्भ में की चर्चा

लम्बित समस्याओं के निराकरण के संदर्भ में की चर्चा
discussion-in-terms-of-resolving-pending-problems

देहरादून, 01 अप्रैल (हि.स.)। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के महामंत्री अरुण पांडे के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने मुख्य सचिव से भेंट की। गुरुवार को मुख्य सचिव से मिलने के बाद अरुण पांडे ने बताया कि मुख्य सचिव के साथ इस भेंट में प्रदेश के कार्मिकों की विभिन्न लम्बित समस्याओं के निराकरण के संदर्भ में चर्चा की गई। इससे पहले मुख्य सचिव की ओर से बैठक के आयोजन का आश्वासन दिया गया था लेकिन कोरोना काल के कारण बैठक नहीं हो पाई और समाधान लंबित रहा। पांडे ने कहा कि अब तक इन प्रकरणों का समाधान लंबित है, ऐसे में बैठक आवश्यक है। उन्होंने बताया कि मुख्य सचिव को एक ज्ञापन भी दिया गया, जिसमें कर्मचारियों की 11 सूत्रीय मांगों को रखा गया है। इन मांगों में राज्य कर्मचारियों को कैशलेस चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराया जाना, विभिन्न विभागों में पदोन्नति नियमावली बनाए जाने, चतुर्थ श्रेणी कर्मियों को 42 सौ ग्रेड दिया जाना शामिल है। इसी क्रम में विभिन्न विभागों में लंबित विसंगतियों को दूर किया जाना, दैनिक वेतनभोगी सुविधा, उपनल, आउटसोर्स कर्मियों का नियमिति करण, जहां प्रोन्नति का अवसर नहीं है, वहां स्टाफिंग पैटर्न का लाभ तथा जहां वाहन नहीं दिया जा रहा है वहां भत्ता दिया जाने के साथ पुरानी पेंशन व्यवस्था को किया जाना शामिल है। अरुण पांडे ने कहा कि इस ज्ञापन पर प्रदेश के कार्यकारी अध्यक्ष नंद किशोर त्रिपाठी, शक्ति प्रसाद भट्ट तथा स्वयं उनके हस्ताक्षर हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ साकेती

अन्य खबरें

No stories found.