दूरस्थ क्षेत्रों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाने के लिए चिकित्सकों की करें तैनाती: मुख्यमंत्री

दूरस्थ क्षेत्रों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाने के लिए चिकित्सकों की करें तैनाती: मुख्यमंत्री
deploy-doctors-to-provide-better-health-facilities-in-remote-areas-chief-minister

देहरादून, 01 अप्रैल (हि.स.)। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने दूरस्थ क्षेत्रों तक बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाने के लिए चिकित्सकों की तैनाती के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने मातृ एवं शिशु मृत्युदर में और कमी लाने पर बल दिया। साथ ही उन्होंने न्याय पंचायत स्तर तक एएनएम और प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में टेलीमेडिसिन की व्यवस्था करने को कहा है। वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग की समीक्षा के मौके पर यह निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने राज्य के दूरस्थ क्षेत्रों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हों, इसके लिए ऐसे क्षेत्रों में चिकित्सकों की नियुक्ति सुनिश्चित करने को कहा। मुख्यमंत्री ने न्याय पंचायत स्तर तक एएनएम की व्यवस्था और उन्हें आवश्यक दवाइयों का किट भी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सीएचसी, पीएचसी तक दवाइयों की पर्याप्त उपलब्धता हो। रिक्त पदों के लिए शीघ्र अधिसूचना भेजी जाए। जिन पदों पर भर्ती प्रक्रिया गतिमान है, उनमें तेजी लाई जाए। उन्होंने कहा कि जिला अस्पतालों में सुपर स्पेशलिस्ट/स्पेशलिस्ट डॉक्टर्स की नियुक्ति की जाए। मुख्यमंत्री ने कोविड टीकाकरण में और तेजी लाने के साथ ही चारधाम यात्रा के दृष्टिगत यात्रा मार्गों पर 108 एम्बुलेंस सेवा की पर्याप्त व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिन परिवारों के अभी तक आयुष्मान कार्ड नहीं बने हैं, उनके भी जल्द कार्ड बनाए जाए। डेंगू, मलेरिया तथा अन्य बीमारियों की रोकथाम के लिए वर्षाकाल से पूर्व सभी आवश्यक तैयारियां कर ली जाएं। सभी को सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का फायदा मिले इसके लिए व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार भी किया जाए। अभी तक 43 लाख 16 हजार गोल्डन कार्ड जारी मुख्यमंत्री ने केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न स्वास्थ्य योजनाओं की कार्य प्रगति की विस्तार से जानकारी ली। बैठक में जानकारी दी गई की अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना के तहत अभी तक 43 लाख 16 हजार गोल्डन कार्ड जारी किये जा चुके हैं। 02 लाख 55 हजार से अधिक लोगों ने अभी तक इस योजना का लाभ लिया है। अस्पतालों का भुगतान एक सप्ताह के अन्दर किया जा रहा है। 75 दिनों के अंतर्गत बनाए सेवा नियमावली मुख्यमंत्री ने 75 दिनों के अंतर्गत चिकित्सा एवं चिकित्सा शिक्षा के सभी संवर्गों की सेवा नियमावली बनाने के साथ ही रिक्त पदों व मेडिकल काॅलेज में जल्द शीघ्र भर्ती प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए। मातृ मुत्यु दर एवं शिशु मृत्युदर में लाए कमी सीएम ने मातृ मुत्यु दर एवं शिशु मृत्युदर में और कमी लाने के प्रयास करने पर जोर दिया। राज्य के जिन जनपदों में बाल लिंगानुपात में पिछले कुछ सालों में कमी आई है, ऐसे जनपदों में बाल लिंगानुपात में सुधार लाने के लिए विभिन्न माध्यमों से जागरुकता अभियान चलाया जाने को कहा। टेलीमेडिसिन की व्यवस्था 100 दिनों के अन्दर करने के निर्देश मुख्यमंत्री ने कहा कि जिला अस्पतालों के सुदृढ़ीकरण पर विशेष ध्यान दिया जाए। प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में आगामी 100 दिनों के अन्दर टेलीमेडिसिन की व्यवस्था की जाए। बैठक में वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से स्वास्थ्य सचिव अमित नेगी, प्रभारी सचिव डाॅ. पंकज पाण्डेय, स्वास्थ्य महानिदेशक डाॅ. तृप्ति बहुगुणा, अपर सचिव/मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरूणेन्द्र सिंह चौहान, स्वास्थ्य निदेशक डाॅ. एस.के.गुप्ता, एन.एच.एम निदेशक डाॅ.सरोज नैथानी एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश