controversy-over-interview-for-the-post-of-principal-ad-ordered-inquiry
controversy-over-interview-for-the-post-of-principal-ad-ordered-inquiry
उत्तराखंड

प्रधानाचार्य पद के लिए साक्षात्कार पर विवाद, एडी ने दिए जांच के आदेश

news

पौड़ी, 08 अप्रैल (हि.स.)। जनपद चमोली के एक अशासकीय विद्यालय में प्रधानाचार्य के पद पर साक्षात्कार आयोजित किए जाने को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। अपर निदेशक माध्यमिक ने मामले की शिकायत मिलने में जांच के आदेश दे दिए हैं। अपर निदेशक ने सीईओ चमोली को जांच अधिकारी नामित एक सप्ताह के भीतर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं। मामले में एक अभ्यर्थी ने साक्षात्कार में शामिल होने को लेकर जान से मारने की धमकी देने और प्रबंध समिति के सामान्य सभा सदस्य ने साक्षात्कार प्रक्रिया पर सवाल खड़े किए हैं। जनपद चमोली के तहसील कर्णप्रयाग में अशासकीय विद्यालय मां चंडिका देवी इंटर कालेज कांडा-मैखुरा स्थित है। जहां विद्यालय में प्रधानाचार्य के पद पर विगत 5 अप्रैल को साक्षात्कार आयोजित किया गया। लेकिन अब इस साक्षात्कार पर विवाद खड़ा हो गया है। साक्षात्कार के लिए चयनित अभ्यर्थियों में शामिल बीडी इंटर कालेज भगवान पुर हरिद्वार के प्रधानाचार्य संजय कुमार गर्ग ने विगत 12 मार्च को डीएम चमोली व एसएसपी चमोली को पत्र भेज उन्हें जान का खतरा होने की शिकायत की थी। मामले में विद्यालय के प्रबंध समिति की सामान्य सभा के सदस्य व गढ़वाल सचिव भाकपा (माले) इंदेश मैखुरी ने अभ्यर्थी की शिकायत व साक्षात्कार प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा गढ़वाल मंडल से कार्रवाई की मांग की थी। इंदेश मैखुरी ने बताया कि साक्षात्कार से पहले ही मैरिट में पहले स्थान के अभ्यर्थी ने डीएम, एसएसपी व सीईओ से एक अभ्यर्थी व विद्यालय के प्रबंधक पर साक्षात्कार में शामिल न होने के लिए दबाव बनाने व शामिल होने पर जान से मारने की शिकायत की थी। लेकिन चमोली में जिला प्रशासन, पुलिस व शिक्षा विभाग ने शिकायत पर समय रहते कोई कार्रवाई नहीं की। कहा कि साक्षात्कार में भी केवल दो अभ्यर्थी शामिल हुए। तीसरे अभ्यर्थी ने केवल हस्ताक्षर ही किए हैं। वह साक्षात्कार में शामिल नहीं हुए। मैखुरी ने कहा कि प्रधानाचार्य जैसे जिम्मेदार पद के साक्षात्कार में कोरम का पूरा न होना और इस तरह के तथ्य सामने आना बेहद ही दुखद है। कहा कि विद्यालय में आधे-अधूरे व अवैधानिक साक्षात्कार के माध्यम से प्रधानाचार्य पद पर नियुक्ति करने की कोशिश की जा रही है। जो शिक्षा व्यवस्था व छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ है। मैखुरी ने कहा कि नियम विरुद्घ हुए साक्षात्कार को निरस्त किया जाय। अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा गढ़वाल मंडल महावीर बिष्ट ने बताया कि मामले में सीईओ चमोली को जांच अधिकारी बना एक सप्ताह के भीतर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि जांच रिपोर्ट आने के बाद मामले में नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/राज/सुनीत