कांग्रेस ने एबीवीपी कार्यकर्ताओं के कोविड अस्पताल में पहुंचने पर प्रशासन को घेरा

कांग्रेस ने एबीवीपी कार्यकर्ताओं के कोविड अस्पताल में पहुंचने पर प्रशासन को घेरा
congress-encircles-administration-when-abvp-workers-arrive-at-kovid-hospital

देहरादून, 29 अप्रैल (हि. स.)। प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने भाजपा के छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) पर कोरोना के नाम पर राजनीति चमकाने के आरोप लगाते हुए स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन के कार्य शैली पर सवाल उठाए हैं। सूर्यकांत धस्माना ने मुख्यमंत्री,स्वास्थ्य विभाग की महानिदेशिक, सीएमओ व दून हस्पताल के प्राचार्य तथा जिलाधिकारी आशीष श्रीवास्तव से सवाल करते हुए कहा कि सत्ताधारी दल के लिए कोविड प्रोटोकाल अलग से है क्या। संक्रमित मरीज के पास अब कोई भी व्यक्ति उसकी तीमारदारी करने के लिए जा सकता है। हालात इतने खराब होते हुए भी सत्ताधारी दल के लोग संक्रमितों की सेवा के नाम पर मरीजों के साथ जूस पिलाते हुए अपने हाथों से उनको भोजन करवाते हुए फ़ोटो व वीडियो शूट करवा कर अपने साथ हज़ारों लोगों की जान के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष जब उत्तराखंड में संक्रमण का पहला मामला रिपोर्ट होने पर वे स्वास्थ्य विभाग की कोविड से लड़ने की तैयारियों का जायज़ा लेने दून हॉस्पिटल पहुंचे थे तो त्रिवेंद्र सरकार के आदेश पर जिलाधिकारी देहरादून व सीएमओ ने उनको कोविड प्रोटोकॉल का हवाला दे कर 28 दिन के लिए गृह एकांतवास कर दिया था। किन्तु आज वही दून हॉस्पिटल वही भाजपा सरकार वही डीएम और इस बार प्रोटोकॉल की सरेआम धज्जियां उड़ा रहे हैं। इस मामले में शामिल सभी लोगों के विरुद्ध कार्यवाही होनी चाहिए। प्रदेश कांग्रेस की प्रवक्ता गरिमा मेहरा दसोनी ने एबीवीपी के कार्यकर्ताओं की ओर से दून चिकित्सालय के कोविड वार्ड में जाकर कोरोना पॉजिटिव मरीजों से बातचीत करते हुए वीडियो सामने आने पर कहा कि संकट के समय फोटो सेशन कराना बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कोविड गाइडलाइंस का सरकार इसमें संलिप्त लोगों पर तुरंत दंडनात्मक कार्यवाही करने की मांग की। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश