basic-concept-of-cow-protection-hinduism-vishokanand-bharti
basic-concept-of-cow-protection-hinduism-vishokanand-bharti
उत्तराखंड

गौ संरक्षण हिन्दू धर्म की मूल अवधारणाः विशोकानन्द भारती

news

हरिद्वार, 27 फरवरी (हि.स.)। पावन धाम आश्रम में माघ मास की पूर्णिमा के अवसर पर महानिर्वाणी अखाड़े के आचार्य स्वामी विशोकानन्द भारती के सानिध्य में विधि-विधान से धार्मिक अनुष्ठान सम्पन्न हुए। इसके अन्तर्गत स्वामी वेदान्तानन्द गौशाला में पावन धाम आश्रम ट्रस्ट के उपाध्यक्ष स्वामी चिन्मयानन्द एवं आश्रम के महंत स्वामी वेदान्त प्रकाश के संयोजन में संतों ने गौ पूजन किया। इस अवसर पर आश्रम के ब्रह्मलीन परमाध्यक्ष स्वामी सहज प्रकाश को संतजनों एवं भक्तजनों ने भावभीनी श्रद्धाजंलि भी अर्पित की। माघ मास की पूर्णिमा के अवसर पर पावन धाम आश्रम में आयोजित समारोह में श्रद्धालु भक्तजनों को महानिर्वाणी अखाड़े के आचार्य स्वामी विशोकानन्द भारती ने संबोधित किया। उन्होंने कहा कि गौ संरक्षण ही हिन्दू धर्म की मूल अवधारणा है जिसके अन्तर्गत गौमाता में समस्त देवी-देवताओं का वास मानकर प्रत्येक हिन्दू धर्मावालम्बी गौ माता की पूजा एवं उसका संरक्षण करना अपना धर्म मानता है। पूर्व केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानन्द सरस्वती ने कहा कि पावन धाम आश्रम अपनी स्थापना काल से ही धर्म के संरक्षण और सेवा के केन्द्र बिन्दु के रूप में विख्यात है। ब्रह्मलीन स्वामी वेदान्तानन्द एवं स्वामी सहज प्रकाश ने यहां पर गौशाला स्थापित कर गौमाता के संरक्षण का पुनीत कार्य किया जिसको संस्था आगे बढ़ा रही है। पावन धाम आश्रम के महंत स्वामी वेदान्त प्रकाश ने कहा कि माघ पूर्णिमा का हमारे सनातन हिन्दू धर्म में विशेष महत्व है। प्रतिवर्ष माघ पूर्णिमा के अवसर पर आश्रम में गौ पूजन, संत सेवा का आयोजन किया जाता है। इस अवसर पर समारोह में स्वामी हरिचेतनानन्द, स्वामी शिवप्रेमानन्द, महंत दुर्गादास, श्रीमहंत ललितानन्द गिरि, महंत केशवानन्द, भाजपा पार्षद दल के उपनेता अनिरूद्ध भाटी, पार्षद अनिल मिश्रा, विदित शर्मा, अंशुल श्रीकुंज सहित कई उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत/मुकुंद