बाणगंगा नदी का तटबंध टूटा, 20 गांवों में बाढ़ जैसे हालात

बाणगंगा नदी का तटबंध टूटा, 20 गांवों में बाढ़ जैसे हालात
banganga-river-embankment-broken-flood-like-situation-in-20-villages

हरिद्वार, 20 जून (हि.स.)। प्रदेश में लगातार हो रही बारिश से हालात गंभीर हैं। गंगा नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण सभी घाट डूबे हुए हैं। इसी बीच लक्सर के शेरपुर बेला खादर गांव के पास बाणगंगा नदी का तटबंध टूटने से करीब 20 गांवों पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। करीब 36 किसानों के पानी में फंसे होने की सूचना है। खानपुर विधानसभा क्षेत्र के शेरपुर बेला गांव के पास शनिवार देररात बाणगंगा का करीब 20 मीटर लंबा तटबंध टूटने से हजारों बीघा कृषि भूमि जलमग्न हो गई है। प्रशासन ने खेतों में काम कर रहे 36 से ज्यादा किसानों के फंसे होने की आशंका जताई है। लक्सर एसडीम शैलेंद्र सिंह नेगी, एसडीआरएफ, स्थानीय पुलिस और जल पुलिस इनको रेस्क्यू करने में लगे हुए हैं। गंगा नदी के पास बसे हुए सभी गांवों के लिए प्रशासन द्वारा अलर्ट जारी किया गया है। आसपास के गांव के लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा रहा है। एसडीएम शैलेंद्र सिंह नेगी ने बताया कि अब तक बाढ़ में फंसे 30 लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित निकाल लिया गया है। अभी और भी लोगों के फंसे होने की आशंका है। बाढ़ प्रभावित ग्रामीणों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है। उनके खाने और रहने की व्यवस्था की गई है। हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत

अन्य खबरें

No stories found.