श्रावण के दूसरे सोमवार को भी बाबा बागनाथ का दरबार भक्तों के लिए नहीं खुला
श्रावण के दूसरे सोमवार को भी बाबा बागनाथ का दरबार भक्तों के लिए नहीं खुला
बागेश्वर

श्रावण के दूसरे सोमवार को भी बाबा बागनाथ का दरबार भक्तों के लिए नहीं खुला

news

बागेश्वर : श्रावण के दूसरे सोमवार को भी बाबा बागनाथ का दरबार भक्तों के लिए नहीं खुला। श्रद्धालुओं ने सरयू के पावन जल से स्नान कर मंदिर परिसर में ही पूजा अर्चना संपन्न कराई। उन्होंने भगवान शिव से सुख, समृद्धि और शांति का आशीर्वाद मांगा। विश्व में फैली कोरोना महामारी से जल्द मुक्ति दिलाने की प्रार्थना की। इधर बागनाथ मंदिर के बंद होने से भक्त जलाभिषेक को ग्रामीण क्षेत्रों के शिव मंदिरों का रुख भी कर रहे हैं। जिसके चलते कई शिव मंदिरों में पूरा दिन भक्तों की भीड़ लगी रही। कोरोना महामारी के चलते इस साल श्रावण के पावन माह में लोग बाबा बागनाथ का जलाभिषेक नहीं कर पा रहे हैं। इसके बावजूद भक्तों की अगाध श्रद्धा उन्हें मंदिर तक खींच कर ला रही है। दूसरे सोमवर को भी भक्त भारी संख्या में बागनाथ मंदिर उमड़े। उन्होंने सरयू नदी के जल में स्नान कर सूर्य को अघ्र्य दिया। मंदिर परिसर में बैठकर बाबा बागनाथ की पूजा अर्चना की। काल भैरव सहित अन्य मंदिरों में भी पूजा पाठ कराया। श्रद्धालुओं ने बंद गेट से ही बागनाथ के शीश नवाकर जल्द महामारी का खात्मा करने की प्रार्थना की। इधर जिले के प्रमुख शिव मंदिरों के बंद होने से भक्तों ने ग्रामीण क्षेत्र में बने मंदिरों की ओर रुख कर लिया है। पगना के सत्तेश्वर मंदिर सहित अन्य शिव मंदिरों में भक्तों ने जलाभिषेक किया। वहीं पिंडारी रोड स्थित प्रकटेश्वर मंदिर में भी भक्तों ने शिवलिंग का जलाभिषेक कर सुख और समृद्धि का आशीर्वाद मांगा। इधर बागनाथ मंदिर के बारीदार किशन सिंह रावल ने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए बागनाथ मंदिर को भक्तों के लिए नहीं खोला गया है। उन्होंने इस महामारी के समय में भक्तों से सहयोग करने की अपील की। ताकि जल्द से जल्द इस संकट से छुटकारा मिल सके।-doonhorizon.inUttarakhandBageshwarfeed.xml