अयोध्या जा रहे मिट्टी व जल कलश का जोशीमठ में स्वागत
अयोध्या जा रहे मिट्टी व जल कलश का जोशीमठ में स्वागत
उत्तराखंड

अयोध्या जा रहे मिट्टी व जल कलश का जोशीमठ में स्वागत

news

जोशीमठ, 27 जुलाई (हि.स.)। भू-बैकुंठधाम बदरीनाथ की माटी तथा देवभूमि उत्तराखंड के पंच प्रयागों व तीर्थों का जल लेकर अयोध्या के लिये रवाना हुआ। जल कलश यात्रा लेकर यहां पहुंचे विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकर्ताओं का देवस्थानम बोर्ड की ओर से स्वागत किया गया। इस मौके पर मंदिर प्रांगण में एक धार्मिक समारोह बदरीनाथ धाम के मुख्य पुजारी रावल ने आशीषवचन दिए। धर्माधिकारी आचार्य भुवन चंद्र उनियाल ने कहा कि राम जन्म भूमि पर भगवान राम के भव्य मंदिर निर्माण का मार्ग पूरी तरह से प्रशस्त हो गया है और 05 अगस्त को शिलान्यास का ऐतिहासिक कार्यक्रम होगा है। उन्होने कहा कि करोड़ों सनातन धर्मावलंबियों की आस्था का प्रतीक भगवान श्री राम का मंदिर जल्द से जल्द बने और किसी प्रकार की कोई बाधा उत्पन्न न हो इसके लिए वे भगवान बदरीविशाल से प्रार्थना करते हैं। देवस्थानम बोर्ड के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी बीडी सिंह ने बदरीनाथ धाम की पवित्र माटी सौंपते हुए कहा कि सैकड़ों वर्षों के संघर्ष व कानूनी लडाई के बाद अब भगवान श्री राम का भव्य मंदिर का निर्माण हो रहा है। मंदिर के शिलान्याश के लिए भगवान बदरीनाथ की धरती से जल कलश व माटी भेजी जा रही है। विश्व हिन्दू परिषद के चमोली विभाग अध्यक्ष देवी प्रसाद देवली ने जल कलश यात्रा का स्वागत करने पर देवस्थानम बोर्ड और बदरीनाथ निवासियों का आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि प्रथम प्रयाग विष्णु प्रयाग, नंदप्रयाग, कर्णप्रयाग, रूद्रप्रयाग व देवप्रयाग का जल एकत्रित करने के लिए विहिप कार्यकर्ताओं की टीमें गठित की गई हैं। इन सभी को माटी व जल लेकर हरिद्वार पहुंचना है। कार्यक्रम में मुख्य पुजारी रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी के अलावा अपर धर्माधिकारी राधाकृष्ण थपलियाल, वेदपाठी रविन्द्र भटट, भाजपा जोशीमठ नगर अध्यक्ष लक्ष्मण फरकिया, आदित्य रावत, सतीश देवली, व समरसता प्रमुख विजेन्द्र सहित देवस्थानम बोर्ड के अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे। जल कलश यात्रा के जोशीमठ पहुंचने पर यहां नृसिंह मंदिर में स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं व विहिप कार्यकर्ताओं ने भी स्वागत किया। हिन्दुस्थान समाचार / प्रकाश कपरूवाण-hindusthansamachar.in