51 करोड़ रुपये से अधिक की जिला योजनाओं के परिव्यय का अनुमोदन

51 करोड़ रुपये से अधिक की जिला योजनाओं के परिव्यय का अनुमोदन
approval-of-outlay-of-district-plans-of-more-than-rs-51-crore

गोपेश्वर, 04 मई (हि.स.)। राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उच्च शिक्षा, सहाकारिता, प्रोटोकाल, दुग्ध विकास एवं जनपद के प्रभारी मंत्री डा. धन सिंह रावत ने मंगलवार को जिला योजना अनुश्रवण समिति की बैठक लेते हुए वित्तीय वर्ष 2021-22 की जिला योजना के लिए सभी विभागों को 51 करोड़ 90 लाख धनराशि का परिव्यय अनुमोदित किया। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को विधायकों, ब्लाक प्रमुख एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों से जल्द से जल्द विकास योजनाओं के प्रस्ताव लेकर विभागीय परिव्यय में योजनाओं का समावेश करते हुए शीघ्र विकास कार्य शुरू कराने के निर्देश दिए। प्रभारी मंत्री ने कहा कि जिला योजना में कम लागत की छोटी योजनाओं के प्रस्ताव शामिल करें और बड़ी योजनाओं के प्रस्ताव राज्य सेक्टर में प्रस्तावित करें। शिक्षा विभाग को जीर्ण-शीर्ण विद्यालयों को प्राथमिकता पर मरम्मत कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्कूलों के लिए फर्नीचर आदि सामान के लिए राज्य सेक्टर से धनराशि दी जाएगी। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि युवा कल्याण, जल संस्थान, भेषज, डेयरी, सहकारिता एवं अन्य विभागों में कार्मिकों के मानदेय के लिए जिला योजना से धनराशि अवमुक्त की जाए। जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने प्रभारी मंत्री को विभागवार प्रस्तावित परिव्यय एवं प्रस्तावों के बारे में विस्तृत जानकारी दी। जिला योजना अनुश्रवण समिति की बैठक में वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए लोनिवि को 4.22 करोड़, पूल्ड आवास को 1.20 करोड़, जल निमग को 2 करोड़, जल संस्थान को 3.05 करोड़, राजकीय सिंचाई को 2.50 करोड़, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य को 2.39 करोड़, महिला कल्याण को 2.30 करोड़, प्रारम्भिक शिक्षा को 3.53 करोड़, माध्यमिक शिक्षा को 3.53 करोड़, कृषि को 6.26 करोड़, उद्यान को 6.48 करोड़, पशुपालन को 1.50 करोड़, सहकारिता को 1.05 करोड़, प्रादेशिक विकास दल को 2.96 करोड़, पर्यटन को 1.94 करोड़, उरेड व लघु सिंचाई एक-एक करोड़ सहित अन्य विभागों को मिलाकर 51.90 करोड़ रुपये की जिला योजना का अनुमोदन हुआ। जनपद के प्रभारी मंत्री ने जिले में कोविड संक्रमण की वर्तमान स्थिति की समीक्षा भी की। इस दौरान उन्होंने अस्पतालों में इलाज की व्यवस्था, ऑक्सीजन बेड, दवाओं, चिकित्सा सहायक उपकरणों की उपलब्धता, एम्बुलेंस, कोविड टेस्टिंग, वैक्सीनेशन के साथ ही मानवीय और भौतिक संसाधनों की जानकारी ली। प्रभारी मंत्री ने कहा कि कोविड महामारी के दृष्टिगत स्वास्थ्य विभाग को जो भी आवश्यकता है उसके लिए पर्याप्त धनराशि दी जाएगी। प्रभारी मंत्री ने आपदा प्रबंधन कार्यों की समीक्षा भी की। इस दौरान थराली विधायक द्वारा थराली-कुराड़ मोटर मार्ग पर ठेकेदार ओर से निर्माण कार्यों में अनियमिता की शिकायत करने पर प्रभारी मंत्री ने जांच कराने के निर्देश दिए। बैठक के बाद प्रभारी मंत्री ने जिला आपदा कन्ट्रोल रूम का निरीक्षण किया गया।इस दौरान थराली विधायक मुन्नी देवी शाह, भाजपा जिला अध्यक्ष रघुवीर सिंह बिष्ट, जिला सहाकारी बैंक के अध्यक्ष गजेन्द्र सिंह रावत, पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चैहान, सीडीओ हसांदत्त पांडे, एडीएम अनिल कुमार चन्याल, सीएमओ डा. एमएस खाती एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार/जगदीश