उत्तराखंड : मकान के ऊपर गिरी ऑलवेदर रोड की सुरक्षा दीवार, भाई-बहन समेत तीन जिंदा दफ़न
उत्तराखंड : मकान के ऊपर गिरी ऑलवेदर रोड की सुरक्षा दीवार, भाई-बहन समेत तीन जिंदा दफ़न
उत्तराखंड

उत्तराखंड : मकान के ऊपर गिरी ऑलवेदर रोड की सुरक्षा दीवार, भाई-बहन समेत तीन जिंदा दफ़न

news

देहरादून : ऋषिकेश-गंगोत्री राजमार्ग पर नरेंद्रनगर के पास हिंडोलाखाल क्षेत्र के खेड़ागाड़ गांव में मकान के ऊपर शुक्रवार को ऑलवेदर रोड की सुरक्षा दीवार गिरने से भाई-बहन समेत तीन जिंदा दब गए, जबकि एक ग्रामीण घायल हो गया। स्थानीय जनता का कहना है कि राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों को कई बार यहां पर सुरक्षा प्रबंध करने के लिए कहा, लेकिन उनकी तरफ से कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने हादसे के कारणों की जांच के लिए उपजिलाधिकारी नरेंद्रनगर युक्ता मिश्र को जांच के आदेश दिए हैं। इस हादसे के बाद पीड़ित धर्म सिंह नेगी ने नरेंद्रनगर थाने में एनएच व एमजीसीपीएल कंपनी के छह अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। शुक्रवार तड़के चार बजे नरेंद्रनगर के पास खेड़ागाड़ गांव निवासी धर्म सिंह के मकान के ऊपर राष्ट्रीय राजमार्ग- 94 की सुरक्षा दीवार टूटने से मलबा आ गया। मलबे में मकान पूरी तरह ध्वस्त हो गया, जिसमें धर्म सिंह तो किसी तरह बाहर निकल आए, लेकिन मकान में सो रही उनकी बेटी विनीता (28 वर्ष), बेटा अंकित (19 वर्ष) और भांजी नीलम (22 वर्ष) मलबे में दब गए। हालांकि धर्म सिंह को भी हल्की चोट आई है। पुलिस और एसडीआरएफ के जवानों ने जेसीबी और अन्य उपकरणों की मदद से मलबा हटाया तब तक तीनों की मौत हो चुकी थी। पीडि़त धर्म सिंह ने कहा कि मैंने एनएच के अधिकारियों को कई बार कहा कि यहां पर हमारे लिए खतरा है, ऐसे में सुरक्षा के उपाय किए जाएं। अधिकारियों ने मेरी बात नहीं सुनी। अधिकारियों की लापरवाही के कारण मेरा परिवार आज खत्म हो गया। वहीं, इस मामले ममें जिलाधिकारी मंगलेश घिल्डियाल ने कहा कि हादसे के कारणों की जांच के लिए उपजिलाधिकारी युक्ता मिश्र को निर्देश दिए गए हैं। अगर किसी की लापरवाही सामने आती है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। स्थानीय लोगों ने हंगामा कर लगाया जाम स्थानीय जनता ने हादसे के लिए एनएच के अधिकारियों और ठेकेदार व कंपनी को जिम्मेदार ठहराते हुए काफी देर हंगामा भी किया और जाम भी लगाया। उपजिलाधिकारी युक्ता मिश्र ने किसी तरह लोगों को शांत किया, जिसके बाद वहां से यातायात सामान्य हुआ। स्थानीय जनता ने एनएच अधिकारियों के ऊपर हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।-doonhorizon.inUttarakhandfeed.xml