acharya-vipin-joshi-is-doing-12-kumbh-in-haridwar
acharya-vipin-joshi-is-doing-12-kumbh-in-haridwar
उत्तराखंड

हरिद्वार में आचार्य विपिन जोशी करवा रहे हैं 12 कुम्भ

news

हरिद्वार, 05 अप्रैल (हि.स.)। भारत माता मंदिर के निकट देवभूमि दिव्य ग्राम के संस्थापक आचार्य विपिन जोशी ने 12 कुम्भ आयोजित किया है। सोमवार को उनका योग कुम्भ था। सुबह से ही महिला, पुरुष व बच्चों को योग की बारीकियां सिखाई गईं। साथ ही योग विशेषज्ञों द्वारा योग पर व्याख्यान दिए गये। आचार्य जोशी ने बताया कि अपने शिविर में संस्कृत कुम्भ, आयुर्वेद कुम्भ, युवा कुम्भ, संस्कृत कुम्भ, स्वरोजगार कुम्भ, बाल कुम्भ, संस्कृति कुम्भ, संगीत कुम्भ, काव्य कुम्भ,कला कुम्भ व योग कुम्भ सहित 12 कुम्भ आयोजित करेंगे। उन्होंने बताया कि 7 अप्रैल को काव्य कुम्भ में जाने -माने कवि कविता पाठ करेंगे। 10 अप्रैल को शक्ति कुम्भ में नारी शक्ति के सशक्तिकरण पर विचार -विमर्श किया जाएगा। 18 अप्रैल को स्वरोजगार कुम्भ में युवाओं के स्वरोजगार के विभिन्न साधनों पर चर्चा होगी। 21 अप्रैल को संस्कृति कुम्भ में उत्तराखंड सहित देशभर की विभिन्न संस्कृतियों पर चर्चा होगी। बाल कुम्भ में बच्चों के चरित्र निर्माण पर विशेषज्ञ अपने प्रेरणादायक विचार रखेंगे। देहरादून टपकेश्वर महादेव स्थित मां वैष्णोदेवी गुफा ट्रस्ट के ट्रस्टी आचार्य विपिन जोशी ने हरिद्वार में 12 कुम्भ के आयोजन की सराहनीय पहल की है। विपिन जोशी ने पहाड़ के गांवों से पलायन रोकने के लिए गांवों को आयुर्वेदिक व वेलनेस सेन्टर के रूप में विकसित करने के प्रयास किए हैं।उन्होंने टिहरी के साबली गांव, जौनसार बावर के डामटा गांव व नैनीताल जिले के मज्यूली, पहाड़ पानी गांवों को गोद लिया है। वे वैज्ञानिक ढंग से बागवानी, कृषि, योग, पशुपालन व जैविक खेती कर लोगों को स्वावलंबी बनाने का प्रयास करेंगे। उनका कहना है कि इससे पहाड़ में विलेज टूरिज्म विकसित होगा। शहरों में पांच -सात हजार रुपये की नौकरी करने वाले युवा वापस अपने गांव लौटने लगेंगे। उन्होंने बताया कि उनके इस अभियान में मदद के लिए जाने-माने लोग आगे आ रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत/मुकुंद