787-new-cases-of-corona-in-uttarakhand-three-dead
787-new-cases-of-corona-in-uttarakhand-three-dead
उत्तराखंड

उत्तराखंड में कोरोना के 787 नए केस, तीन लोगों की मौत

news

-718 बूथों पर 107658 लोगों को किया वैक्सीनेसन देहरादून, 08 अप्रैल (हि.स.)। उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे में गुरुवार को 787 नए कोरोना के मामले मिले है। आज तीन संक्रमित की मौत हुई है। प्रदेश में 5042 सक्रिय मरीज की संख्या पहुंच गई। वहीं 265 डिस्चार्ज भी हुए। अब तक कुल एक लाख 54 सौ 98 संक्रमित हो चुके हैं। राज्य में 91.94 प्रतिशत के साथ रिकवरी दर में गिरावट दर्ज की गई है। बढ़ते कोविड संक्रमण से बचाव के लिए प्रदेश भर में 718 बूथों पर 107658 लोगों को वैक्सीनेसन किया गया। गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार अलग-अलग सरकारी और निजी लैब से कुल 29,287 जांच रिपोर्ट निगेटिव आई जबकि 787 कोरोना के लक्षण मिले हैं। सबसे ज्यादा हरिद्वार जिले में, 277 इसके बाद देहरादून में देहरादून में 239 और नैनीताल में 132 कोरोनो के लक्षण मिले हैं। वहीं टिहरी में 39, ऊधमसिंह नगर में, 34 अल्मोड़ा में 16रुद्रप्रयाग में 12 और चमोली में चमोली 10 में नए मामले आए। जबकि पौड़ी में,8 उत्तरकाशी में 7,बागेश्वर और पिथौरागढ़ में छह-छह के साथ ही में चंपावत में 1 कोरोना के संक्रमित मिले हैं। देहरादून जिलाधिकारी डॉ.आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि जिले में 239 व्यक्तियों की रिपोर्ट पाॅजिटिव आई है। जिले में कुल 33198 संक्रमितों की संख्या पहुंच गई है। जिसमें से 29786 व्यक्ति ठीक हुए है। वर्तमान में 1979 व्यक्ति उपचाररत हैं। जिले में गुरुवार को कुल 8336 सैम्पल जांच के लिए गए है। सामाजिक दूरी और कोविड नियमों के उल्लंघन पर 803 व्यक्तियों के चालान किए गए। राज्य में अब तक 17 सौ 41 लोगों की कोरोना से मौत प्रदेश में आज तीन कोरोना संक्रमित की उपचार के दौरान मौत हुई है। जिसमें 69 वर्षीय व्यक्ति की हिमालयन अस्पताल देहरादून में जबकि दूसरा 52 वर्षीय व्यक्ति की विनय विशाल हेल्थ केयर रुडकी और तीसरा 78 वर्षीय वृद्ध की कोटद्वार में मौत हुई है। अभी तक कुल 1744 कोरोना संक्रमित मरीजों की उपचार के दौरान मौत हो चुकी है। राज्य में मृत्यु दर 1744 (1.65 फीसद) है। प्रदेश में अब तक 105498 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं। जिनमें से 97000 स्वस्थ्य हो चुके हैं। हालांकि पिछले कई दिनों से राज्य में रिकवरी में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। प्रदेश में (91.94) रिकवरी दर है। बुधवार को 92.38 प्रतिशत रिकवरी की दर थी। प्रदेश में सक्रिय मरीज की संख्या में संख्या 5042 हुंच गई है। प्रदेश के अन्य जिलों से कुल 265 मरीज स्वस्थ्य होकर अपने घर गए। सैंपल जांच के आधार पर संक्रमण की दर 3.58 प्रतिशत दर्ज की गई। जबकि बुधवार को संक्रमण की दर 3.59 प्रतिशत थी। राज्य से 1744 (1.65) मरीज स्वस्थ्य होकर बाहर जा चुके हैं। उत्तराखंड में 34 जोखिम क्षेत्र देहरादून सहित प्रदेश के चार जिलों में जोखिम क्षेत्र की संख्या अब बढ़कर 34 हो गई है। कुल आठ शहरों में यह जोखिम जोन बना हैं। इनमें देहरादून में जनपद में कुल 22 जोखिम क्षेत्र बनाए गए हैं। देहरादून में 17,विकासनगर में, 2 ऋषिकेश में 03 जोखिम क्षेत्र है। हरिद्वार में, 1 रुडकी में 3 को मिलाकर जिले में चार जोखित जोन बन गए हैं। हल्द्वानी में 06, राम नगर में 1 के साथ नैनीताल जिले में कुल सात जोखिम क्षेत्र बन गए हैं। टिहरी जिले के नरेन्द्र नगर में 1 जोखिम जोन की संख्या हैं। प्रदेश में 107658 लोगों को दी गई कोरोना वैक्सीन गुरुवार को प्रदेश में 718 बूथों पर 105375 लोगों को कोरोना से बचाव के लिए टीका लगाई गई। आज 778 हेल्थ और 1505 फ्रंट लाइन वर्कर को टीका लगाई गई। देहरादून में 122 बूथों पर 45-60 साल के आुय के 21424 और हेल्थ 275 व 183 फ्रंट लाइन कर्कर को टीका लगाया गया। देहरादून में दोनो डोज की 5041 लोगों ने टीका लगवाई है। अभी तक प्रदेश में 10,02711 लोगों को टीका लगाया जा चुका है। जबकि 16,6251 फुल डोज वैक्सीनेशन किया गया है। एफआरआई को आम लोगों के लिए किया गया बंद संक्रमण की दूसरी लहर उत्तराखंड के अग्रणी शैक्षणिक संस्थानों में तेजी से फैलती जा रही है और केंद्रीय अकादमी राज्य वन सेवा, दून स्कूल तथा भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रूड़की में पिछले तीन दिनों दिनों में कोविड-19 के 56 नये मामले सामने आ चुके हैं। देहरादून स्थित वन अनुसंधान संस्थान (एफआरआई) में 14 ट्रेनी अफसर कोरोना संक्रमित मिले हैं। अब एफआरआई को आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया। एफआरआई प्रधानाचार्य कुणाल सत्यार्थी ने बताया कि 14 प्रशिक्षु अधिकारियों के कोरोना वायरस से संक्रमित मिलने के बाद एहतियात के तौर पर फिलहाल अकादमी को बंद कर दिया गया है। संपर्क में आए लगभग 100 लोगों के नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं। बाहर से आने वाले लोगों के प्रवेश पर अगले 10 दिन के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश