उत्तराखंड में 1953 कोरोना के नए मामले, 13 की मौत

उत्तराखंड में 1953 कोरोना के नए मामले, 13 की मौत
1953-new-corona-cases-in-uttarakhand-13-killed

- 533 बूथों पर तीस हजार से ज्यादा को लगा टीका देहरादून, 14 अप्रैल (हि.स.)। उत्तराखंड में कोरोना की दूसरी लहर से हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। कुंभ मेला में आए श्रद्धालुओं की संख्या सरकार से लेकर आमजन के लिए चिंता बढ़ा सकती है। बुधवार को राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान रिकॉर्ड 1953 कोरोना के मामले मिले हैं। आज भी कुल 13 मरीजों की मौत हुई है। राज्य में एक लाख से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं, जिसमें से 99,380 लोग स्वस्थ भी हो चुके हैं। लगातार रिकवरी दर में गिरावट ने भी स्वास्थ्य विभाग की परेशानी बढ़ा दी है। कोविड बचाव के लिए प्रदेशभर में 533 बूथों पर तीस हजार छह सौ लोगों ने टीका लगवाया। अब तक कुल 12 लाख से ज्यादा लोगों को टीका लगवा चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से बुधवार को जारी हेल्थ आकड़ों के अनुसार अलग-अलग सरकारी और निजी लैब से कुल 43303 सैम्पल की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है जबकि राज्य के सभी जिलों में साल के सबसे अधिक 1953 रिकॉर्ड कोरोना के मरीज एक दिन में मिले हैं। देहरादून और हरिद्वार में आमजन के साथ साधु संतों के साथ प्रशासनीक अधिकारी कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं। सबसे ज्यादा देहरादून जिले में 796 मरीज मिले हैं। इसके बाद हरिद्वार में 525, नैनीताल में 205, टिहरी में 78, ऊधमसिंह नगर में 118 नए मामले आए। अल्मोड़ा में 92, चमोली 8, चंपावत 28 और उत्तरकाशी में 08 मरीज मिले हैं। पौड़ी में 79, बागेश्वर में 6, पिथौरागढ़ में 4, रुद्रप्रयाग में 6 कोरोना संक्रमित मिले हैं। बुधवार को प्रदेश में कुल 13 कोरोना संक्रमितों की उपचार के दौरान मौत हुई है। इनमें से एक महिला और 12 पुरुष शामिल हैं। इनमें से एक ऋषिकेश एम्स और महंत इद्रेश अस्पताल में सात और मैक्स व कैलाश अस्पताल में एक-एक, सेना के अस्पताल में दो व कृष्ण सेवा आश्रम में एक संक्रमित की उपचार के दौरान मौत हुई है। अभी तक कुल 1793 कोरोना संक्रमित की मौत हो चुकी है। राज्य में मृत्यु दर में 1.57 फीसद है। प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या मंगलवार को 10770 पहुंच गई है। आज कुल 483 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर गए। सैंपल जांच के आधार पर संक्रमण की औसत दर 3.59 प्रतिशत दर्ज की गई। राज्य से 2081 (1.83) मरीज स्वस्थ होकर बाहर जा चुके हैं। आज 47,619 लोगों के सैंपल जांच के लिए लैब भेजे गए हैं। राज्य में अब तक 114024 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 99,9380 (87.16 दर) स्वस्थ्य हो चुके हैं। प्रदेश में रिकवरी दर में लगातार गिरावट चिंता का विषय बना हुआ है। उत्तराखंड में 58 जोखिम क्षेत्र देहरादून सहित प्रदेश के चार जिलों में जोखिम क्षेत्र की संख्या अब बढ़कर 54 हो गई है। देहरादून जिले में अब कुल 30 जोखिम क्षेत्र हैं। देहरादून में 23, विकासनगर में 04 ऋषिकेश में 03 जोखिम क्षेत्र है। हरिद्वार जिले में कुल 05 जोखिम क्षेत्र चिह्नित हुए हैं। इनमें रुड़की में 4 और हरिद्वार में एक जोखिम जोन बनाए गए हैं। नैनीताल जिले में कुल 22 जोखिम बने हैं। पौड़ी जिले के होटल चंद्रलोक श्रीकोट को जोखिम जोन बनाया गया है। 30,600 का वैक्सीनेशन प्रदेश में 533 बूथों पर 30600 लोगों को कोरोना से बचाव के लिए टीका लगाया गया। जहां 45 से 60 साल की आयु के 29808 लोगों को टीका लगाया गया, वहीं 403 हेल्थ और 389 फ्रंटलाइन वर्कर को टीका लगाया गया। देहरादून में 106 बूथों पर 45-60 साल के आयु के 7458 टीका लगाया गया। 160 हेल्थ वर्कर और 74 फ्रंट लाइन को टीका लगाया गया। अभी तक प्रदेश में 12,25054 लोगों को टीका लगाया जा चुका है, जबकि दोनो डोज 202944 व्यक्तियों को लगाई जा चुकी है। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश