सौड़ के ग्रामीणों ने रेलवे परियोजना की सही जानकारी की मांग की
सौड़ के ग्रामीणों ने रेलवे परियोजना की सही जानकारी की मांग की
उत्तराखंड

सौड़ के ग्रामीणों ने रेलवे परियोजना की सही जानकारी की मांग की

news

डीएम मंगेश को ज्ञापन भेजकर रेलवे परियोजना के अधिकारियों पर लगाया गुमराह करने का आरोप नई टिहरी, 31 जुलाई (हि.स.)। ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना के अंतर्गत सौड़ ग्रामवासियों को रेलवे की ओर से वास्तविक स्थिति की जानकारी मुहैया नहीं कराने पर आक्रोशित ग्रामवासियों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन भेजा गया। ज्ञापन में गांववासियों ने रेलवे को उन्हें पूरी तरह अंधेरे मे रखने की बात कही गयी। मालूम हो देवप्रयाग नगरपालिका क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्राम सौड़ में इस रेलवे परियोजना की सबसे बड़ी 15.5 कि मी की सुरंग का निर्माण किया जाना है। ज्ञापन में ग्रामीणों का कहना था कि रेल परियोजना में ग्राम सौड़ के लोगों के मकान, जमीन और पेड़ सब कुछ जा रहा है। लेकिन उन्हें इस सबन्ध में स्पष्ट जानकारी नहीं दी जा रही है। जबकि रेलवे परियोजना को लेकर अभी तक लगभग बीस से अधिक बैठकें की जा चुकी हैं। यह बैठक कभी भी आहूत कर दी जाती है। बैठकों में अधिकारियों के आधी-अधूरी जानकारी के साथ आने से गाँववासियों के सवालों का स्पष्टीकरण नहीं हो पाता है। रेलवे के लापरवाह रवैये से सौड़ वासियों में लगातार रोष बना है। बीते गुरुवार को क्षेत्रीय उप राजस्व निरीक्षक राजन चौधरी सहित रेलवे इंजीनियर निशांत अग्रवाल, वन विभाग अधिकारी बलबीर सिंह व कानूनगो आदि सौड़ गाँव मे बैठक करने पहुंचे थे। लेकिन उनके द्वारा कोई भी स्पष्ट जानकारी सौड़ गांव वासियों को नहीं दी गयी। जिस पर गांव ग्रामवासियों ने अपना रोष जताते हुये अधिकारियों को जमकर खरी-खोटी भी सुनाई। गांववासियों ने जिलाधिकारी को भेजे ज्ञापन में इस मामले में सक्षम अधिकारी को भेजकर ग्रामीणों की अधिग्रहित भूमि सहित अन्य सवालों के सम्बन्ध में सही व स्पष्ट जानकारी दिये जाने की मांग की गयी। ज्ञापन देने वालो में सुधीर मिश्रा, दिनेश चंद टोडरिया, गुलाब सिंह, नरेंद्र सिंह नेगी,सुरेंद्र सिंह आदि शामिल रहे। हिन्दुस्थान समाचार/प्रदीप डबराल/-hindusthansamachar.in