सीएम ने की कोरोना के रोकथाम कार्यों की समीक्षा, कहा- नियमों की अवहेलना करने वालों पर हो सख्त कार्रवाई
सीएम ने की कोरोना के रोकथाम कार्यों की समीक्षा, कहा- नियमों की अवहेलना करने वालों पर हो सख्त कार्रवाई
उत्तराखंड

सीएम ने की कोरोना के रोकथाम कार्यों की समीक्षा, कहा- नियमों की अवहेलना करने वालों पर हो सख्त कार्रवाई

news

रुद्रपुर (ऊधम सिंह नगर), 30 जुलाई (हि.स.)। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरुवार को यहां विकास कार्यों के साथ ही कोरोना के सम्बन्ध में प्रशासन द्वारा किये जा रहे कार्यों एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की। समीक्षा बैठक में जनपद के प्रभारी एवं शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कोरोना के चलते प्रशासन द्वारा किये गये कार्यों एवं व्यवस्थाओं पर संतोष व्यक्त करते हुए अधिकारियों से आपसी समन्वय तथा सूझबूझ से स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाते हुए उसका लाभ जनता को देने को कहा। उन्होंने कहा कि कोरोना के लिए स्वास्थ्य विभाग, पुलिस, प्रशासन के अलावा आंगनबाड़ी एवं एएनएम जो कि फ्रंट वारियर्स के रूप मे कार्य कर रहे हैं, उनकी सुरक्षा भी की जाए ताकि ये सभी स्वस्थ एवं सुरक्षित रहते हुए लोगों को जनस्वास्थ्य की बेहतर सुविधायें दे सकें। उन्होंने कहा कि लोगों के बीच अनिवार्य रूप से मास्क, सेनिटाइजर तथा सामाजिक दूरी का संदेश स्पष्ट तौर पर दिया जाए, क्योंकि जागरूकता एवं बचाव ही कोरोना संक्रमण को फैलने से रोक सकता है। उन्होंने कहा कि मास्क एवं सामाजिक दूरी व अन्य नियमों का यदि कोई पालन ना करे तो उसके विरुद्ध चालान के अलावा अन्य दण्डात्मक कार्यवाही भी अमल में लाई जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण के लिहाज से आने वाला समय काफी अहम एवं संवेदनशील है। ऐसे में हमें एहतियात बरतने की जरूरत होगी। उन्हांने कहा जिन्हें एकांतवास किया गया है अगर निर्धारित समय में उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आने के साथ ही उनमें दूसरे लक्षण भी नही दिखते हैं तो ऐसे लोगों को घर भी भेजा जा सकता है। उन्होंने सभी अधिकारियों व कर्मचारियों से कहा कि वह पूरी तत्परता, कार्यकुशलता एवं निष्ठा के साथ संक्रमण काल में टीम भावना के साथ दायित्वाें का निर्वहन करें। अप्रवासी उत्तराखण्डियों तथा यहां के निवासियों को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए स्थानीय उत्पादों पर आधारित ग्रोथ सेन्टरों को विकसित करने की दिशा में कार्य किया जाए ताकि स्थानीय तौर पर विशेषकर ग्रामीण इलाकों में स्थानीय लोगों को स्वरोजगार के मौके मिलें तथा उनकी कुछ आमदनी हो। इन ग्रोथ सेन्टरों के जरिये पलायन को भी रोका जा सकेगा। कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने बाहर से आने वाले प्रवासियों से अपील की है कि वे एकांतवास के नियमों का अनिवार्य रूप से पालन करें। उन्होंने भी जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग, पुलिस विभाग व अन्य विभागीय अधिकारियों, कर्मचारियों द्वारा इस आपदा दौर में किये जा रहे कार्यों की सराहना की। उन्होंने कहा कि सरकार की पहली प्राथमिकता प्रत्येक नागरिक को बचाने की है। प्रदेश में विभिन्न प्रान्तों से आने वाले लोगों की संख्या बढ रही है इसलिए आने वाले समय में कोविड केयर चिकित्सालय में पर्याप्त व्यवस्थाओं के साथ ही कोविड केयर सेन्टर व एकांतवास केंद्र में भी पर्याप्त व्यवस्थायें रखी जाएं। बैठक में प्रभारी सचिव स्वास्थ्य डा. पंकज कुमार पाण्डे ने बताया कि रुद्रपुर मेडिकल कालेज में स्थापित कोविड केयर सेन्टर में पृथक से 30 डाक्टरों तथा 10 अन्य पैरामेडिकल स्टाफ की तैनाती की जा रही है, जो कि स्वतन्त्र रूप से कोरोना के सम्बन्धित कार्यो को पूरी दक्षता एवं तत्परता से पूर्ण करेंगे। जिलाधिकारी डा नीरज खैरवाल ने जनपद में कोरोना के सम्बन्ध में प्रशासन द्वारा की गई व्यवस्थाओं एवं अब तक किये गये कार्यो की विस्तृत जानकारी दी। हिन्दुस्थान समाचार/दधिबल-hindusthansamachar.in