शिकारी दल के लौटने से ग्रामीण दहशत में
शिकारी दल के लौटने से ग्रामीण दहशत में
उत्तराखंड

शिकारी दल के लौटने से ग्रामीण दहशत में

news

हल्द्वानी, 14 अक्टूबर (हि.स.)। उत्तराखंड वन विभाग को भले ही अन्य जिलों से नरभक्षी गुलदारों के अंत की उत्साहवर्धक खबरें मिल रही हों पर हल्द्वानी से विभाग को लगातार निराशा ही हाथ लग रही है। कुछ महीनों पहले रानीबाग क्षेत्र में दो महिलाओं को मार डालने और दो लोगों को घायल करने वाले गुलदार का अब तक पता नहीं चल पाया है। इसके बाद फतेहपुर क्षेत्र में एक किशोरी और एक आठ माह के बच्चे पर हमला करने वाले आदमखोर को मारने के लिए शिकारी बुलाए गए लेकिन मंगलवार शाम चार दिन की मेहनत के बाद मेरठ से आए शिकारी सैयद अली बिन हादी की तबीयत बिगड़ने के बाद यह मिशन अधूरा रह गया। शिकारी अपनी टीम के साथ वापस लौट गए। वन विभाग की टीमें क्षेत्र में दिन-रात गश्त कर रही हैं। लेकिन शिकारी के साथ होने से इन टीमों के हौसले बुलंद थे। अब लोगों में गुलदार की दहशत बढ़ गई है। हिन्दुस्थान समाचार/अनुपम गुप्ता/मुकुंद-hindusthansamachar.in