रेलवे के निजीकरण के विरोध में सीटू का प्रदर्शन
रेलवे के निजीकरण के विरोध में सीटू का प्रदर्शन
उत्तराखंड

रेलवे के निजीकरण के विरोध में सीटू का प्रदर्शन

news

हरिद्वार, 17 जुलाई (हि.स.)। रेलवे के निजीकरण के विरोध में केन्द्रीय आह्वान पर सीटू जिला कमेटी ने शुक्रवार को रेलवे स्टेशन पर विरोध प्रदर्शन किया। विरोध के बाद सीटू कार्यकर्ताओं ने रेलवे स्टेशन मास्टर को राष्ट्रपति के नाम सम्बोधित ज्ञापन भी दिया। इस मौके पर हुई सभा में सीटू के जिलाध्यक्ष पीडी बलोनी ने कहा कि केन्द्र सरकार निरन्तर अपना घाटा पूरा करने के लिए सार्वजनिक संस्थानों को अपने कारपोरेट आकाओं को खुश करने के लिए औने-पौने दामों में बेच रही है। केन्द्र सरकार 109 रेल गाडि़यों को निजी हाथों में सौंपने जा रही है। रेलवे में सरकार पहले की सौ प्रतिशत निवेश को मंजूरी दे चुकी है। रेलवे का निजीकरण केवल रेलवे कर्मचारियों के लिए नहीं है, बल्कि आम नागरिकों पर भी इसके दूरगामी परिणाम होंगे। केन्द्र सरकार का यह कमद देशहित में नहीं है। निजीकरण होने से रेलवे की सेवाएं काफी महंगी हो जाएंगी। सभा का संचालन आरपी जखमोला ने किया। इस अवसर पर अशोक चौधरी, आरसी धीमान, वीरेन्द्र सिंह, डीपी रतूडी, उदयवीर सिंह, एमपी जखमोला, हरीश चन्द्र, राजकुमार, अनिल कुमार, आजाद, नवीन, धर्मपाल, रविन्द्र आदि मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत/मुकुंद-hindusthansamachar.in