युवती की हत्या के आरोपित की जमानत अर्जी खारिज
युवती की हत्या के आरोपित की जमानत अर्जी खारिज
उत्तराखंड

युवती की हत्या के आरोपित की जमानत अर्जी खारिज

news

नैनीताल, 10 सितम्बर (हि.स.)। जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजीव कुमार खुल्बे ने फंदे पर लटकी मिली युवती की हत्या के आरोप में भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत गिरफ्तार ग्राम प्रधान के भाई की जमानत अर्जी खारिज कर दी। गुरुवार को आरोपित विपिन चंद्र की जमानत अर्जी का विरोध करते हुए जिला शासकीय अधिवक्ता-फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने अदालत को बताया कि आरोपित पर 25 जुलाई को घर से करीब एक किमी दूर एक पेड़ से चुनरी से लटकी मिली कुमारी राजयंती पुत्री स्वर्गीय लीला राम निवासी ग्राम भुमका पट्टी नाई जिला नैनीताल की हत्या का आरोप है। मृतका के भाई के अनुसार आरोपित उसकी बहन से लंबे समय से शादी का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाये हुए था जबकि आरोपित की मां ने कहा था कि वह किसी भी कीमत में उनकी शादी नहीं होने देगी। इधर घटना के दौरान मृतका आरोपित पर शादी करने का दबाव डाल रही थी। इस पर उसकी हत्या कर शव पेड़ से लटका दिया गया, हालांकि पोस्टमार्टम में मृत्यु का कारण ‘डेथ ड्यू टु एसपीक्सिया एस रिजल्ट ऑफ एंटीमार्टम हैंगिंग’ पाया गया। यानी मृत्यु का कारण दम घुटना बताया गया और मृतका के पांव जमीन में लगे हुए थे। मृतका को अंतिम बार आरोपित के साथ देखा गया था और आरोपित ने भी मृतका के साथ होने की बात स्वीकारी है। मामले में अभियोजन पक्ष ने चार गवाह भी पेश किये। इनके आधार पर न्यायालय ने आरोपित की जमानत अर्जी खारिज कर दी। आरोपित ग्राम प्रधान भुमका का भाई भी बताया गया। हिन्दुस्थान समाचार/नवीन जोशी-hindusthansamachar.in