मील का पत्थर साबित होगी शिक्षा नीति-2020: बेबी रानी मौर्य
मील का पत्थर साबित होगी शिक्षा नीति-2020: बेबी रानी मौर्य
उत्तराखंड

मील का पत्थर साबित होगी शिक्षा नीति-2020: बेबी रानी मौर्य

news

वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये ‘नई शिक्षा नीति’ पर हुये सम्मेलन की राष्ट्रपति ने की अध्यक्षता राज्यपालों व उच्च शिक्षा मंत्रियों ने किया प्रतिभाग देहरादून, 07 सितम्बर (हि.स.)। राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने सोमवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की अध्यक्षता में ‘‘नई शिक्षा नीति’’ पर आयोजित राज्यपालों व उच्च शिक्षा मंत्रियों के सम्मेलन में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रतिभाग किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक भी उपस्थित रहे। विभिन्न राज्यों के राज्यपालों, उप राज्यपालों, उच्च शिक्षा मंत्रियों ने नई शिक्षा नीति पर अपने विचार व्यक्त किए। बेबी रानी मौर्य ने कहा कि शिक्षा नीति-2020 शिक्षा के क्षेत्र में मील का पत्थर सिद्ध होगी। सम्मेलन में उत्तराखंड की राज्यपाल मौर्य ने कहा कि नई शिक्षा नीति-2020 अत्यन्त गहन तथा व्यापक विचार विमर्श का परिणाम है। इसमें विद्यार्थियों की व्यवहारिक व व्यवसायिक शिक्षा पर विशेष बल दिया गया है। शिक्षा नीति-2020 शिक्षा के क्षेत्र में मील का पत्थर सिद्ध होगी। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति के प्रभावी क्रियान्वयन में राज्य के विश्वविद्यालय के कुलपतियों और शिक्षकों की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। राज्यपाल मौर्य ने कहा कि उत्तराखंड के हित में कौशल विकास, जैविक कृषि, आयुर्वेद आदि को नई शिक्षा नीति के माध्यम से बढ़ावा दिया जा सकता है। इस अवसर पर उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. धन सिंह रावत, राज्यपाल के सचिव बृजेश कुमार संत, सयुंक्त सचिव जितेन्द्र कुमार सोनकर, उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सुनील कुमार जोशी और दून विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. अजीत कुमार कर्नाटक उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/ मुकुंद/-hindusthansamachar.in