महिलाओं की तुलना में फेफड़े कैंसर के पुरुष मरीज ज्यादा
महिलाओं की तुलना में फेफड़े कैंसर के पुरुष मरीज ज्यादा
उत्तराखंड

महिलाओं की तुलना में फेफड़े कैंसर के पुरुष मरीज ज्यादा

news

- कैंसर बचाव के लिए पल्मोनोलाजी विशेषज्ञों ने चलाया अभियान देहरादून, 32 जुलाई (हि.स.)। मैक्स सुपर स्पेशियलिटी हास्पिटल, देहरादून के पल्मोनोलाजी विशेषज्ञों ने शुक्रवार को कैंसर से होने वाली मौत के आम कारण फेफड़े कैंसर से बचाव के लिए जागरूक किया। इस दौरान कहा कि समय से उपचार मिलने पर बीमारी से निजात पाया जा सकता है। वहीं महिलाओं की तुलना में पुरुषों में फेफड़े कैंसर के ज्यादा मरीज मिलते हैं। मैक्स हास्पिटल देहरादून में एसोसिएट डायरेक्टर और पल्मोनोलाजी के विभागाध्यक्ष डा. पुनीत त्यागी ने बताया कि हमने उत्तराखंड के विभिन्न हिस्सों जैसे ऋषिकेश, हरिद्वार, रुड़की, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, और पोंटा साहिब और उत्तराखंड के निकटवर्ती राज्यों से कैंसर के मामले देखे हैं। हम कैंसर का जल्द पता लगाने के साथ ही समस्या का समाधान की दिशा में काम कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि पिछले आठ वर्षों में हमने जिन रोगियों का इलाज किया है, उनके आधार पर हमने पाया कि महिलाओं की तुलना में पुरुषों में फेफड़े के कैंसर आम हैं। हालांकि महिलाओं में धूम्रपान के बढ़ते चलन के कारण अब फेफड़े के कैंसर से प्रभावित महिलाओं की संख्या भी बढ़ने लगी है। वरिष्ठ कंसल्टेंट डॉ. वैभव चाचरा ने कहा कि हमने हाल ही में एंडोब्रोंकियल अल्ट्रासाउंड ईबीयुएस गाइडेड ट्रांसब्रोंकियल नीडल एस्पिरेशन टीबीएनए की मदद से एक 75 वर्षीय पुरुष में फेफड़े के कैंसर का निदान किया। रोगी को सिर्फ सूखी खांसी थी जो ठीक नहीं हो रही थी। हालांकि वह धूम्रपान नहीं करता था और शुरू में निगलने में कठिनाई होने के कारण वह अन्य विशेषज्ञों से इलाज करा रहा था। उन्होंने कभी भी किसी पल्मोनोलाजिस्ट को नहीं दिखाया और वे कैंसर के गंभीर चरण में प्रवेश कर गये। यदि उनका पहले ही ईबीयुएस कराया गया होता तो कैंसर के इलाज में देरी नहीं होती। ईबीयुएस द्वारा हम बीमारी का पहले चरण में भी पता लगा सकते हैं। साथ ही इससे बहुत अधिक संवेदनशीलता और विशिष्टता दर के साथ अन्य बीमारियों से अंतर करने में भी मदद मिलती है। इस मौके पर उपस्थित मैक्स सुपर स्पेशियलिटी हास्पिटल देहरादून के यूनिट हेड डॉ. संदीप सिंह तंवर ने सभी से सुरक्षित रहने, आवश्यक सावधानी बरतने और खुद को स्वस्थ रखने के लिए स्क्रीनिंग कराने और जांच करवाने की अपील की। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश/सुनीत-hindusthansamachar.in