महाराष्ट्र में मठ-मंदिर नहीं खोले जाने पर अखाड़ा परिषद ने जतायी नाराजगी
महाराष्ट्र में मठ-मंदिर नहीं खोले जाने पर अखाड़ा परिषद ने जतायी नाराजगी
उत्तराखंड

महाराष्ट्र में मठ-मंदिर नहीं खोले जाने पर अखाड़ा परिषद ने जतायी नाराजगी

news

जल्द से जल्द मठ मंदिर खोलने की इजाजत दे महाराष्ट्र सरकारः नरेंद्र गिरी हरिद्वार, 15 अक्टूबर (हि.स.)। कोरोना की वैश्विक महामारी के इस दौर में अनलाॅक-5 की गाइडलाइन केन्द्र सरकार की ओर से जारी होने के बावजूद महाराष्ट्र में मठ-मंदिरों को अब तक न खोले जाने को लेकर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने कड़ी नाराजगी जताई है। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि महाराज ने कहा कि ये गम्भीर चिंता का विषय है कि महाराष्ट्र में मठ-मंदिरों को खोलने की मांग को लेकर साधु-संतों और पुजारियों को आंदोलन करना पड़ रहा है। अखाड़ा परिषद ने महाराष्ट्र के साधु-संतों और पुजारियों का समर्थन करते हुए महाराष्ट्र सरकार के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मठ-मंदिरों को जल्द खोलने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि जबकि देश के सबसे बड़े राज्य यूपी में सीएम योगी आदित्यनाथ ने मठ मंदिरों को खोलने की इजाजत दे दी है। यूपी में खोले गए मठ मंदिर पूरी तरह से कोरोना गाइडलाइन का पालन भी कर रहे हैं। श्रीमहंत नरेंद्र गिरि महाराज ने कहा है कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे आखिर किस का अपमान कर रहे हैं। साधु-संतों और पुजारियों का अपमान कर रहे हैं या फिर सनातन धर्म के देवी देवताओं का अपमान कर रहे हैं। उन्होंने कहा है कि उनके पिता स्वर्गीय बालासाहेब ठाकरे हिंदूवादी नेता होने के साथ ही साधु संतों का आदर और सम्मान भी करते थे। लेकिन ऐसा लग रहा है महाराष्ट्र की सरकार अहंकार में डूबी हुई है। श्रीमहंत नरेंद्र गिरी महाराज ने महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे से जल्द मठ मंदिरों को खोलने की इजाजत दिए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रवक्ता ने कुंभ मेले को लेकर जो टिप्पणी की है वह हिंदू विरोधी है। कुंभ मेला करोड़ों हिन्दुओं की आस्था का केंद्र है। ऐसे में कुंभ मेले को लेकर की गयी अनुचित टिप्पणी पर कांग्रेस के प्रवक्ता को माफी मांगनी चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत-hindusthansamachar.in