बिना वेतन दिए ही आउटसोर्सिंग कर्मियों को भेजा घर
बिना वेतन दिए ही आउटसोर्सिंग कर्मियों को भेजा घर
उत्तराखंड

बिना वेतन दिए ही आउटसोर्सिंग कर्मियों को भेजा घर

news

गोपेश्वर, 22 सितम्बर (हि.स.)। बाल विकास विभाग में आउट सोर्सिंग पर लगे कर्मियों को नौ माह का वेतन दिये बिना बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। मंगलवार को जिला मुख्यालय गोपेश्वर में इन लोगों ने बैठक कर बाल विकास विभाग से वेतन भुगतान की मांग की है। बाल विकास विभाग चमोली में आउट सोर्सिंग के माध्यम से कार्यरत जगदीश प्रसाद, मंजू खत्री, नीरज नेगी, रविन्द्र सजवाण का कहना है कि चमोली जिले में केंद्र सरकार की ओर से संचालित विभिन्न योजनाएं जिनमें वन टाॅप सेंटर, महिला शक्ति केंद्र, राष्ट्रीय पोषण मिशन, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना आदि शामिल हैं, में 34 से अधिक कर्मी लगे हुए थे। जिस कंपनी से अनुबंध कर उन्हें तैनाती दी गई थी उसका अनुबंध मई में ही समाप्त हो गया था, उसके बाद भी उन्हें कार्य पर रखा गया और अभी तक नौ माह का वेतन नहीं दिया गया है। 15 सितम्बर को उनकी सेवा समाप्त कर दी गई है। उनका पीएफ भी जमा किया गया साथ ही 30 प्रतिशत अन्य कटौती भी की गई है। इसका अभी तक कोई लेखाजोखा उन्हें नहीं दिया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/जगदीश/मुकुंद-hindusthansamachar.in