पूर्व सैनिकों के हित के लिए कांग्रेस करेगी संघर्ष: धस्माना
पूर्व सैनिकों के हित के लिए कांग्रेस करेगी संघर्ष: धस्माना
उत्तराखंड

पूर्व सैनिकों के हित के लिए कांग्रेस करेगी संघर्ष: धस्माना

news

देहरादून, 20 दिसम्बर (हि.स.)। पूर्व सैनिक कर्मचारी संगठन, सैनिक कल्याण उत्तराखंड के अध्यक्ष पूर्व सूबेदार मेजर गजपाल सिंह नेगी ने रविवार को पार्टी मुख्यालय कांग्रेस भवन में प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष सूर्यकान्त धस्माना से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा। इस दौरान धस्माना ने कहा कि कांग्रेस पूर्व सैनिकों के मुद्दे को लेकर सड़क से सदन तक संघर्ष करेगी। प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष सूर्यकान्त धस्माना ने कहा कि कांग्रेस सैनिकों के कल्याण के प्रति कटिबद्ध है और उनके साथ हमेशा खड़ी है। कांग्रेस शासनकाल में सैनिकों के कल्याण के लिए अनेकों योजना को अमलीजामा पहनाया गया। उपनल व सैनिक कल्याण बोर्ड की स्थापना कर पूर्व सैनिकों की भावनाओ के अनुकूल कार्य किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा ने कोरे वायदे कर पूर्व सैनिकों को गुमराह किया है, जिसका जीता जागता उदाहरण वर्तमान त्रिवेंद्र सरकार द्वारा पूर्व सैनिकों की उपेक्षा है। आज प्रदेश का पूर्व सैनिक कांग्रेस की तरफ टकटकी लगाए हुए देख रहा है। प्रदेश उपाध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस की तत्कालीन सरकार जिसके मुखिया हरीश रावत थे, ने सैनिकों के कल्याण के लिए विभागों में समायोजित करने की प्रक्रिया शुरू की थी लेकिन वर्तमान की भाजपा सरकार ने विभागों में समायोजन पर रोक लगाई हुई है। उन्होंने कहा कि भाजपा सैनिकों के नाम पर केवल लाभ लेना चाहती है, लेकिन कांग्रेस ने सैनिकों के कल्याण के प्रति गम्भीरता दिखा कर कार्य किए हैं। मौके पर पूर्व सैनिक कर्मचारी संगठन, सैनिक कल्याण उत्तराखंड के अध्यक्ष गजपाल सिंह नेगी ने कहा कि पूर्व सैनिकों के हितों के प्रति भाजपा गम्भीर नहीं है और केवल उनसे राजनैतिक लाभ लेना चाहती है। कांग्रेस के तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत ने विभागों में समायोजित करने की प्रक्रिया प्रारम्भ की थी। लेकिन वर्तमान की भाजपा सरकार ने इस पर पूरी तरह से विराम लगाया हुआ है। उन्होंने कहा कि सातवें वेतनमान का लाभ भी पूर्व सैनिकों को मिलना चाहिए। उन्होंने कांग्रेस से उम्मीद जाहिर की कि सदन में नियम 58 के अन्तर्गत कार्यवाही की जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश-hindusthansamachar.in