पुलिया पर हादसा होने के बाद जागा प्रशासन, बनवाई 'सुरक्षा रेलिंग'
पुलिया पर हादसा होने के बाद जागा प्रशासन, बनवाई 'सुरक्षा रेलिंग'
उत्तराखंड

पुलिया पर हादसा होने के बाद जागा प्रशासन, बनवाई 'सुरक्षा रेलिंग'

news

ऋषिकेश, 15 अक्टूबर (हि.स.)। ग्राम सभा खदरी खड़क माफ स्थित राजकीय पॉलिटेक्निक संस्थान के समीप सीवरेज नाले पर सुरक्षा के लिए रेलिंग न लगाए जाने के कारण 2 सांडों के नाले में गिरने के बाद विभाग की नींद खुली। उसने रेलिंग का काम शुरू कर दिया है। वर्षों पूर्व पीडब्ल्यूडी द्वारा बनाई गई पुलिया पर सुरक्षा रेलिंग नहीं थी। इस पुलिया पर दो सांंड़ लड़ते हुए नाले में गिर चुके थे।। इसके कारण लगातार दुर्घटना का खतरा बना हुआ था।बीती 14 अगस्त को इसकी शिकायत नमामि गंगे जिला क्रियान्वयन समिति देहरादून के सदस्य पर्यावरण सचेतक विनोद जुगलान द्वारा लोक निर्माण विभाग को देते हुए सुरक्षा रेलिंग लगाने की मांग की थी। साथ ही क्षतिग्रस्त पुलिया के आसपास सड़क पर बर्षात के कारण बने गड्ढों को भरकर सड़क की मुरम्मत कराने को कहा गया था। इसका संज्ञान लेते हुए लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता विपिन सैनी ने सड़क के निर्माण और पुलिया की रेलिंग लगाने के निर्देश दिए थे। विभाग के अवर सहायक अभियंता लक्ष्मी कांत गुप्ता ने न केवल पुलिया के समीप 80 मीटर सड़क का पुनर्निर्माण कराया बल्कि रेलिंग रहित पुलिया की सुरक्षा रेलिंग का निर्माण करवाते हुए उसका रंग रोगन भी करवा दिया है। विभागीय अभियन्ता ने बताया कि पुलिया के समीपवर्ती गैस गोदाम से लेकर दीपक ध्यानी के घर तक उक्त मार्ग पर अस्सी अस्सी मीटर दूरी के तीन वर्क ऑर्डर पर निर्माण कार्य चल रहा है।शीघ्र ही राजकीय पॉलिटेक्निक संस्थान की ओर से श्यामपुर फाटक की ओर जाने वाली इस सड़क पर सभी लम्बित पड़े वर्क ऑर्डर का कार्य पूरा कर लिया जाएगा। सड़क निर्माण के समय ग्रामीणों से नवनिर्मित सड़क पर वाहन न चलाने की अपील की जारही है ताकि सड़क को मजबूती प्रदान की जा सके। पर्यावरण सचेतक विनोद जुगलान सहित स्थानीय लोगों ने सड़क निर्माण सहित सुरक्षा रेलिंग लगाने हेतु लोक निर्माण विभाग का आभार जताया है। हिन्दुस्थान समाचार /विक्रम-hindusthansamachar.in