नैनीताल: पत्रकार हरीश का असामयिक निधन, आखिरी स्टेज के मर्ज का पता ही नहीं था
नैनीताल: पत्रकार हरीश का असामयिक निधन, आखिरी स्टेज के मर्ज का पता ही नहीं था
उत्तराखंड

नैनीताल: पत्रकार हरीश का असामयिक निधन, आखिरी स्टेज के मर्ज का पता ही नहीं था

news

नैनीताल, 10 सितम्बर (हि.स.)। नगर के पत्रकार हरीश कुमार का असामयिक निधन हो गया है। बुधवार देर रात हल्द्वानी के निजी चिकित्सालय में उपचार के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। बेहद मृदुभाषी, मिलनसार एवं दूसरों की मदद के लिए हमेशा तत्पर रहने वाले 40 वर्षीय हरीश एक निजी टीवी चैनल में कार्यरत थे। बताया गया है कि बीते एक सप्ताह से वे बुखार आदि की समस्या से ग्रस्त थे। बुधवार को दिन में बीडी पांडे जिला चिकित्सालय दिखाने के लिए आए थे। यहां वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. एमएस दुग्ताल ने उनके अल्ट्रासाउंड, शुगर आदि के टेस्ट कर तत्काल हल्द्वानी जाकर डायलिसिस कराने की सलाह दी थी। इस पर अपराह्न 3 बजे अस्पताल से लौटकर वह शाम 6 बजे से पहले हल्द्वानी के निजी चिकित्सालय में भर्ती हुए थे। डा. दुग्ताल ने बताया कि हरीश को 300 शुगर थी, लेकिन उन्हें इसका पता ही नहीं था। इस कारण उन्होंने कोई ऐहतियात भी नहीं बरती होगी। इस कारण उनकी दोनों किडनी खराब हो गई थी, और उन्हें आखिरी समय में इसका पता चला। इस कारण उन्हें बचाया नहीं जा सका। हरीश का मई 2011 में विवाह हुआ था, तथा अभी कोई संतान नहीं है। अभी नंदा देवी महोत्सव के दौरान महोत्सव का लाइव प्रसारण करने में भी उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही थी। उनके निधन से पत्रकारों में गहरा दुःख एवं शोक व्याप्त हो गया है। हिन्दुस्थान समाचार/नवीन जोशी-hindusthansamachar.in