धर्मनगरी में लौट रही रौनक, जगी उम्मीद की किरण!
धर्मनगरी में लौट रही रौनक, जगी उम्मीद की किरण!
उत्तराखंड

धर्मनगरी में लौट रही रौनक, जगी उम्मीद की किरण!

news

हरिद्वार, 12 सितम्बर (हि.स.)। कोरोना वायरस के कारण धर्मनगरी हरिद्वार में भी पुरोहितों और व्यापारियों के सामने आर्थिक संकट गहराता जा रहा है। लोगों के चेहरे पर मायूसी देखने को मिल रही है। हालांकि अनलॉक-4 की गाइलाइन के तहत कुछ छूट दिये जाने पर व्यापारियों ने धर्मनगरी की रौनक लौटने की उम्मीद लगाए हैं। कोरोना वायरस के कारण धर्मनगरी हरिद्वार की रौनक पूरी तरह खत्म हो गई थी। इसको लेकर व्यापारियों और पुरोहितों में मायूसी देखने को मिल रही थी लेकिन अनलॉक-4 में छूट के कारण अब विश्व प्रसिद्ध धर्मनगरी हरिद्वार की रौनक धीरे-धीरे लौटने लगी है। जो बाजार बिल्कुल सूने पड़े हुए थे उनमें अब यात्री दिखने लगे हैं। हालांकि पहले जितनी तादाद में तो नहीं लेकिन अब कुछ हद तक बाजारों की रौनक पटरी पर लौटती नजर आ रही है। व्यापारी नेता संजीव नैयर ने बताया कि पहले की अपेक्षा अब बाजारों में रौनक लौट रही है लेकिन अभी कम यात्री हरिद्वार आ रहे हैं। आने वाले समय में शायद व्यापार उसी तरह हो, जिस तरह पहले हुआ करता था। तीर्थ पुरोहित उज्वल पंडित का कहना है कि अनलॉक के बाद से अब बाजारों में और संध्याकालीन मां गंगा की आरती में श्रद्धालु दिखने लगे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत-hindusthansamachar.in