देवीधुरा-बोहरागांव-फतेहपुर मोटरमार्ग निर्माण की गुणवत्ता पर उठे सवाल, आंदोलन की धमकी
देवीधुरा-बोहरागांव-फतेहपुर मोटरमार्ग निर्माण की गुणवत्ता पर उठे सवाल, आंदोलन की धमकी
उत्तराखंड

देवीधुरा-बोहरागांव-फतेहपुर मोटरमार्ग निर्माण की गुणवत्ता पर उठे सवाल, आंदोलन की धमकी

news

नैनीताल, 17 सितम्बर (हि.स.)। पीएमजीएसवाई के अंतर्गत निर्माणाधीन 20 किमी लंबे देवीधुरा-बोहरागांव-फतेहपुर मोटरमार्ग पर 13 करोड़ की लागत से हो रहे डामरीकरण के ‘इंटर टॉप सोलिंग’ के कार्य की गुणवत्ता पर सवाल उठने लगे हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि इस कार्य में मानकों के विपरीत निर्माण सामग्री प्रयोग की जा रही है। देवीधुरा के ग्राम प्रधान धर्मेंद्र सिंह ने इस पर विभाग के इंजीनियरों, अधिकारियों और ठेकेदार की मिलीभगत का आरोप लगाते हुए आंदोलन की धमकी दे दी है। उनका कहना है कि इस मोटरमार्ग में विभिन्न चरणों में पिछले सात-आठ वर्षों में करोड़ों रुपया खर्च हो चुका है। अब 13 करोड़ से चल रहे डामरीकरण के कार्य में स्थानीय निर्माण सामग्री का प्रयोग किया जा रहा है जबकि निविदा के मानकों के अनुसार गौला नदी की सामग्री का प्रयोग किया जाना चाहिए। उन्होंने मार्ग किनारे पानी की निकासी की उचित व्यवस्था नहीं करने का आरोप लगाते हुए राजकीय इंटर कालेज परिसर, देवीधुरा और पापड़ी गांवों में आपदा आने का अंदेशा भी जताया है। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि उनकी शिकायतों पर विभाग मूकदर्शक बना रहता है तो जनता को साथ लेकर सड़क पर उतर कर आंदोलन के लिए मजबूर होना पड़ेगा। हिन्दुस्थान समाचार/नवीन जोशी-hindusthansamachar.in