डीएम ने लिया हेंवल नदी पुर्नजीवन परियोजना के कार्यों का जायजा
डीएम ने लिया हेंवल नदी पुर्नजीवन परियोजना के कार्यों का जायजा
उत्तराखंड

डीएम ने लिया हेंवल नदी पुर्नजीवन परियोजना के कार्यों का जायजा

news

नई टिहरी, 02 अगस्त (हि.स.)। डीएम मंगेश घिल्डियाल ने रविवार को हेंवल नदी पुनर्जीवन परियोजना के तहत नरेन्द्रनगर वनप्रभाग की ओर से कराए जा रहे कार्यों का निरीक्षण किया। उन्होंने वन विभाग के कर्मचारियों के साथ खुरेत गाड़ से नागणी तक 7 किलोमीटर पैदल चल कर कामकाज देखा। उन्होंने गजल नाला क्षेत्र में जल संरक्षण, भूमि संरक्षण, टिंच खुदान व चीड़ के पिरूल से बन रहे चेक डैम के कार्यों का निरीक्षण किया। इसके बाद वे अधिकारियों के साथ खुरेत गाड से नागणी तक 7 किलोमीटर के पैदल ट्रैक पर चले और नदी के किनारे किये जा रहे कार्यों को देखा। वनप्रभाग के वनाधिकारी धर्म सिंह मीणा ने डीएम को खुरेत गाड़ में कराये गये स्पिंग शैड व स्टीम शैड कार्यों की जानकारी दी। मौकेपर डीएफओ कोको रासो, एसडीओ मनमोहन सिंह बिष्ट, वन क्षेत्राधिकारी बुद्धिप्रकाश, हीरा पंवार आदि मौजूद रहे। उल्लेखनीय है कि हेंवल नदी एक फारेस्ट फिड नदी है जो कि चंबा ब्लॉक के खुरेत गांव के जंगलों से निकलती है। 42 किलोमीटर लंबी यह नदी चंब से शिवपुरी तक कई किसानों की सिंचाई एवं पेयजल का मुख्य स्त्रोत है। जलवायु परिवर्तन एवं मानवीय गतिविधियों से यह नदी लगातार सूख रही है। इसे पुनर्जीवित करने के लिए नरेंद्रनगर वन प्रभाग की ओर से हेंवल पुनर्जीवित परियोजना शुरू की गई है। इसके तहत नदी के 16 हजार 164 हेक्टेयर कैचमेंट एरिया में गाड-गदेरों का लैंडस्केप विकास, धारा कैचमेंट ट्रीटमेंट, वनीकरण, नदी के तल का उपचार व संवर्द्धन का कार्य किया जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/प्रदीप डबराल/मुकुंद-hindusthansamachar.in