डीएम की प्रवासियों से स्वरोजगार अपनाने की अपील
डीएम की प्रवासियों से स्वरोजगार अपनाने की अपील
उत्तराखंड

डीएम की प्रवासियों से स्वरोजगार अपनाने की अपील

news

नई टिहरी, 17 जुलाई (हि.स.)। डीएम मंगेश घिल्डियाल ने शुक्रवार को विकासखंड चंबा के आरकोट गांव पहुंचकर प्रवासियों की बंजर भूमि को कृषि योग्य बनाने की मुहिम का निरीक्षण किया। इस मौके पर डीएम ने कहा कि प्रवासी सरकार की चलाई जा रही स्वरोजगार योजनाओं की जानकारी तत्पर होकर लें। योजनाओं का लाभ अधिकाधिक मात्रा में लें। योजनाओं का लाभ लघु उद्योग स्थापित करने से लेकर कृषि, बागवानी, पशु पालन, मत्स्य पालन आदि गतिविधयों में करें। डीएम ने आराकोट गांव के सुशील बहुगुणा समेत आठ अन्य प्रवासियों के हेंवल नदी के किनारे बंजर पड़ी भूमि व क्यारियों को पुनः कृषि योग्य व उपजाऊ बनाने के लिए निरंतर किये जा रहे काम को देखा। निरीक्षण के दौरान डीएम ने प्रवासियों के मेहनती जज्बे को देखते हुए हर संभव मदद का आश्वासन दिया। इसमें जंगली जानवरों से सुरक्षा को भूमि की घेरबाड़, भैंस पालन, मत्स्य पालन, पोल्ट्री फार्म, पाली हाउस, फलदार वृक्ष इत्यादि उपलब्ध कराने के लिए खंड विकास अधिकारी को मौके पर ही निर्देश दिये। इस अवसर प्रवासी सुशील बहुगुणा व साथियों ने बताया कि उनका 9 सदस्य समूह लगभग 7 हेक्टेयर बंजर भूमि को कृषि योग्य बनाने का कार्य कर रहा है। जिसमें से लगभग 3 हेक्टेयर पर कार्य पूरा करते हुए इसमे मिर्च, भिंडी, बीन उगाने के साथ ही अन्य गतिविधियां शुरू कर दी गई हैं। डीएम ने भूमि की सही पैमाइश को एडीएम को कार्रवाई के निर्देश दिये। ताकि सही पैमाइश के उपरांत घेरबाड़ एवं अन्य योजनाओं के सटीक क्रियान्वयन को प्लानिंग के तहत आवश्यक औपचारिकता पूरी की जा सके। डीएम ने प्रवासियों को रोजगार शुरू करने के लिए को-ऑपरेटिव से प्रति व्यक्ति 3 लाख रुपये मुफ्त ब्याज ऋण की जानकारी दी। उन्होंने कहा की अपना स्वयं का रोजगार शुरू करने के लिए बिना ब्याज के 3 लाख रुपये तक की आर्थिक सहायता प्राप्त करने के लिए यह योजना प्रवासियों को रोजगार से जोड़ने का बेहतर जरिया है। डीएम ने नागणी में मोनिका पंवार की मशरूम की खेती का भी निरीक्षण किया। मोनिका ने मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई के उपरांत गुरुग्राम में नौकरी छोड़कर स्वरोजगार को अपनाया है। हिन्दुस्थान समाचार/प्रदीप डबराल/मुकुंद-hindusthansamachar.in