टैक्सी किराये में मनमानी से लोगों में रोष, प्रशासन से की किराए का निर्धारण करने की मांग
टैक्सी किराये में मनमानी से लोगों में रोष, प्रशासन से की किराए का निर्धारण करने की मांग
उत्तराखंड

टैक्सी किराये में मनमानी से लोगों में रोष, प्रशासन से की किराए का निर्धारण करने की मांग

news

चम्पावत, 23 जुलाई (हि.स.)। कोरोना महामारी की वजह से उपजे हालातों से जूझ रहे लोगों को टैक्सी वालों के मनमाने किराए की मार भी झेलनी पड़ रही है। बाराकोट लोहाघाट के बीच टैक्सी के मनमाने किराए से लोगों में खासा रोष है। स्थानीय लोग अब इसके खिलाफ आवाज बुलंद करने लगे हैं। उन्होंने मामले की शिकायत करते हुए प्रशासन से किराया निर्धारित करने की मांग की है। गुरुवार को बाराकोट में जनप्रतिनिधियों एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं ने टैक्सी वालों के मनमाने तरीके से किराए वसूलने को लेकर गहरी नाराजगी जताई। बताया गया कि पहले जो किराया 40 रुपये था, अब सीधे सीधे सौ रुपये हो गया। सभी ने एक स्वर में प्रशासन से किराए की दरों को निर्धारित करने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि हर टैक्सी में सवारियां ठूंस ठूंस कर भरी जा रही है। कोरोना के नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है और शारीरिक दूरी का भी पालन नहीं किया जा रहा है। मास्क सेनेटाइजर की तो बात ही कौन करे, जिससे क्षेत्र में कोरोनावायरस के संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है। नाराजगी जताने वालों में लड़ीधूरा शैक्षिक एवं सांस्कृतिक मंच के अध्यक्ष नगेंद्र जोशी, ज्येष्ठ उपप्रमुख नंदा बल्लभ बगौली, बाराकोट के ग्राम प्रधान राजेश सिंह अधिकारी, ग्राम प्रधान विसराडी निर्मल नाथ गोस्वामी, ग्राम प्रधान झिरकुनी राजेश चंद्र जोशी, रमेश चंद्र जोशी, अनिल जोशी, खीम सिंह अधिकारी, खुशाल सिंह और जानकी जोशी आदि शामिल रहे। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव मुरारी-hindusthansamachar.in